अखिलेश प्रदेश में जातिवाद और आराजकता को दे रहे बढ़ावा-श्रीकांत

file foto

लखनऊ। सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने बुधवार को लखनऊ में कहा कि सपा प्रमुख अखिलेश प्रदेश में जातिवाद और अराजकता को बढ़ावा देने के एजेंडे पर काम कर रहे है सपा के पास दूसरा कोई मुद्दा नही बचा है इसलिए वह समाज को बांटने का काम कर रही है। अखिलेश योगी-मोदी फोबिया से ग्रस्त हैं इसलिए वह सरकार के विकास और सुशासन से घबराकर अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं। भाजपा सरकार सबका साथ-सबका विकास की नीति पर चलकर प्रदेश में खुशहाली लाने का काम कर रही है।
श्रीकान्त शर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार भगवान के अवतारों एवं महापुरूषो को छोटी सीमाओं में बांध कर नहीं रखती है। हमारा प्रयास है कि आने वाली पीढियां इनके विषय में सब-कुछ जानें। विद्यालय के पाठ्यक्रमों में इनके बारे में विस्तृत जानकारी दी जाती है। आज भगवान परशुराम की जयंती पर शैक्षिक संस्थानों में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है। छात्र युवाओं को उनके बारे में जानकारी दी जा रही है जिससे वह महापुरूषों के जीवन में प्रेरणा ले सकें। इसके उलट आज अखिलेश दूसरी भाषा बोल रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी की सरकार जाति पंथ की भेद-भाव से उठकर प्रदेश को आगे ले जाने की दिशा में काम कर रही है।

जातिवादी मानसिकता और गुंडों को बढ़ावा देने से जनता ने विपक्ष में बैठाया

अखिलेश को नहीं भूलना चाहिए कि जातिवादी मानसिकता और गुंडों को बढ़ावा देने की सपा की मानसिकता के कारण ही जनता ने उन्हें विपक्ष में बैठने को मजबूर कर दिया है। सपा सरकार ने उत्तर प्रदेश का नही,केवल गुंडे और बदमाशों का ही विकास किया। जिसका खामियाजा जनता ने भुगता है। निवेशक उत्तर प्रदेश में आने से डरते थे। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने बेपटरी और भ्रष्ट व्यवस्था को दुरस्त करने का काम पिछले एक सालों में किया है। हम प्रदेश कि छवि को बदलने में सफल रहे है। उत्तर प्रदेश अब वास्तव में उत्तम प्रदेश बनने को अग्रसर हुआ है। सरकार के एक साल का सफल कार्यकाल पूरे राष्ट्र के लिए अनुकरणीय है।

सपा का दूसरा नाम ही साजिशकर्ता पार्टी

सपा का दूसरा नाम ही साजिशकर्ता पार्टी है। जमाखोरी के मामले में इनकी पार्टी और नेता उस्ताद रहे हैं। नोटबंदी से सपा, बसपा और कांग्रेस को ही सबसे ज्यादा परेशानी उठानी पडी थी क्योंकि इन्होनें नोटों की जमाखोरी की थी। देश के कुछ हिस्सों में नकदी की मांग बढऩे पर यह दल अनायास ही साजिश में जुटे हुए है जबकि भारत सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने एटीएम में रुपये की किल्लत को संज्ञान में लिया है और जल्द ही इसे दूर करने का भरोसा दिया है। देश के जी0डी0पी में उत्तर प्रदेश 14.43 लाख करोड़ का योगदान करता है। सरकार ने जिन 15 छुट्टियों को रद्द किया है उससे सालाना करीब 50 हजार करो? का लाभ उत्तर प्रदेश की जनता को मिलेगा। सरकार की मंशा प्रदेश की जनता को सुख समृद्धि की ओर ले जाने की है। प्रदेश में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने अयोध्या, मथुरा, काशी, चित्रकूट सहित प्रदेश के प्राचीन और धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण तीर्थ स्थलों के विकास के लिए काम कर रही है। इससे रोजगार के साथ ही प्रदेश में पर्यटन की स्थिति में काफी सुधार भी होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × one =