प्रेरणा एप लांच, शिक्षक सेल्फी से दर्ज करेंगे उपस्थिति, सीएम ने कहा भ्रष्टाचार पर होगा कड़ा प्रहार

लखनऊ। राजधानी समेत प्रदेश भर के शिक्षक अब विद्यालयों में समय से पहुंचकर उपस्थिति दर्ज करवायेंगे। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठïान में शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह के दौरान प्रेरणा एप बटन दबाकर लांच किया। इस ऐप लांच करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा ये ऐप भ्रष्टïाचार पर गहरी चोट करेगा, साथ ही शिक्षकों के लिए भी अब असानी होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब शिक्षकों को काम करने में काफी आसानी होगी। शिक्षक इस ऐप के माध्यम से शिक्षक अपनी समस्याओं को भी सीधे शासन स्तर पर भेज सकेंगे, जिसमें मुख्य रूप से अवकाश, चाइल्ड केयर लीव, मैटीनिरीटी लीव, इसके साथ ही जीपीएफ भुगतान आदि समस्या का समाधान ऑनलाइन ही जो जायेग। इसके साथ ही शिक्षकों का पूरा विवरण ऐप में दर्ज होगा, जिससे शिक्षकों की ट्रांसफर व पोस्टिग की जाएगी, विद्यालय में उपलब्ध संसाधनों का विवरण दज होगा। मिड डे मील के तहत भोजन करने वाले विद्यार्थियों की भी निगरानी की जायेगी।
इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बेसिक शिक्षा परिषद की ओर शिक्षा व्यवस्था में व्यापक बदलाव किए गये हैं, इसका फायदा यह हुआ है कि आज केन्द्र सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से चैम्पियनशिप आवार्ड प्रदान किया। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था को देखते हुए पहली बार बदलाव के लिए आपरेशन कायाकल्प की शुरूआत हुई है। जिसके बाद सभी जिलों के स्कूलों में काफी बदलाव हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई भी बच्चा जब हमारे समाज में जन्म लेता है और वह परिवार से निकलकर शिक्षा ग्रहण करने के लिए जाता है तो उसको तरासने की प्रथम जिम्मेदारी प्राथमिक शिक्षा व्यवस्था की होती है, ऐसे में यदि कोई बच्चा जो पढ़ाई से यदि वंचित रह जाता है तो उसमें उस बच्चे का दोष नहीं है, दोष हमारा और हमारे समाज का भी है।
इस तरह से काम करेगा प्रेरणा एप-
सर्व शिक्षा अभियान के परियोजना निदेशक विजय किरन आनंद ने बताया कि शिक्षकों को प्रेरणा एप के जरिए स्कूल में उपस्थिति दर्ज करनी होगी। उन्हें बच्चों के साथ सेल्फी लेकर एप पर अपलोड करना होगा। परिषदीय स्कूलों और कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में विद्यार्थियों के लर्निंग आउटकम का आंकलन भी पोर्टल के जरिए किया जाएगा। पोर्टल के जरिए विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष एप के जरिए समिति की नियमित बैठक, प्रार्थना सभा, खेलकूद और यूनिफार्म वितरण सहित अन्य गतिविधियों की फोटो भी अपलोड करेंगे। स्कूलों का निरीक्षण करने वाले अधिकारियों को भी पोर्टल और एप पर फोटो अपलोड करनी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.