महात्मा गांधी के आदर्शो पर चलकर ही विश्व एकता की मिलेगी मंजिल-डा. जगदीश गांधी

लखनऊ। सिटी मॉण्टेसरी स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाओं ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती की पूर्व संध्या पर सीएमएस गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में आयोजित रंगारंग शिक्षात्मक-सांस्कृतिक कार्यक्रमों द्वारा एकता, शान्ति, सत्य, अहिंसा के विचारों को विश्व के कोने-कोने में प्रवाहित करने का आवाहन किया। समारोह के मुख्य चौधरी उदयभान सिंह, राज्यमंत्री, खादी एवं ग्रामोद्योग ने दीप प्रज्वलन कर एवं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण कर समारोह का विधिवत शुभारम्भ किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्य अतिथि चौधरी उदयभान सिंह ने कहा कि महात्मा गाँधी सकारात्मकता में विश्वास करते थे और सकारात्मकता से ही सफलता मिलती है। सच्चाई, कार्य की पवित्रता एवं दृढ़ निश्चय, यही सफलता के सूत्र हैं। सी.एम.एस. की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि सी.एम.एस. राष्ट्रपिता के विचारों को लगातार आगे बढ़ा रहा है और आने वाली पीढिय़ों में अच्छे विचार भर रहा है और यही वक्त की जरूरत है।
इस अवसर पर आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि महात्मा गांधी के आदर्शो पर चलकर ही विश्व एकता की मंजिल मिलेगी। महात्मा गांधी ने कहा था कि आधुनिक विश्व की समस्याओं को सुलझाने के लिए विश्व शान्ति की यह मांग है कि सभी सम्प्रभु देशों को एकजुट होकर एक वल्र्ड फेडरेशन की स्थापना करनी चाहिए। डा. गाँधी ने जोर देते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि महात्मा गांधी द्वारा सोचे गये विश्व फेडरेशन (विश्व संसद) के सपने को साकार किया जाए।
इस अवसर पर डा. जगदीश गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी विश्व के 2.5 बिलियन बच्चों की ओर से अपील की कि वे भारत में पूरे विश्व के नेताओं की एक ग्लोबल कान्फ्रेन्स बुलाकर वैश्विक आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन जैसी वैश्विक समस्याओं पर परिचर्चा करें और इन्हें सुलझाएं। इस मीटिंग का मुख्य ऐजेन्डा हो कि हम विश्व संसद स्थापित करके विश्व में एक नई राजनीतिक व आर्थिक व्यवस्था बनाएं, जिसके द्वारा हम विश्व के 2.5 बिलियन बच्चों व आगे आने वाली पीढिय़ों का भविष्य सुन्दर व सुरक्षित बना सकें।
डा. गाँधी ने आगे कहा कि विश्व को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसा सुदृढ़ व समर्पित नेता चाहिए जिसने विश्व के सभी बड़े नेताओं के साथ अच्छे व गहरे सम्बन्ध स्थापित कर लिए हैं व अपने आप में वे एक ग्लोबल लीडर बनकर उभरे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − thirteen =