प्याज के दाम फुटकर में पहुंचा 120 रूपए प्रति किलो, तो सरकार ने उठाया ये कदम

न्यूज डेस्क। सब्जी के नाम इन दिनों प्याज लोगों के आंसू निकाल रहा है। मंगलवार और बुधवार को फुटकर बिक्री में इसकी कीमत में जबदस्त बढ़ोत्तरी देखने को मिली। प्याज की कीमत 100 से 120 रूपए प्रतिकिलो तक पहुंच चुकी है। वहीं दूसरी ओर सरकार ने प्याज की बढ़ती कीमतों से निजात दिलाने के लिए बड़ा कदम उठाये जाने का दावा किया है।
केन्द्र सरकार ने प्याज की जमाखोरी पर शिकंजा कसने के लिए फैसला लेते हुए प्याज के थोक व फुटकर व्यापारियों के लिए स्टॉक सीमा 50 फीसदी घटाकर 25 टन और पांच टन कर दी है। केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय की ओर से जारी एक आदेश के मुताबिक देश के सभी राज्यों में प्याज के थोक व्यापारी अब अपने स्टॉक में 25 टन से ज्यादा प्याज नहीं रख सकेंगे जबकि खुदरा कारोबारियों के लिए प्याज के स्टॉक की यह सीमा पांच टन रखी गई है। मंत्रालय ने कहा कि यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होगा। हालांकि यह आयातकों पर लागू नहीं होगा।
प्याज के आसमान छूते दाम को थामने के लिए इससे पहले 30 सितंबर को केंद्र सरकार ने थोक एवं खुदरा व्यापारियों के लिए प्याज की स्टॉक सीमा तय कर दी थी जिसके अनुसार, थोक व्यापाररियों के लिए प्याज की स्टॉक सीमा 50 टन जबकि खुदरा कारोबारियों के लिए पांच टन थी। देश की राजधानी दिल्ली स्थित आजादपुर मंडी में प्याज का थोक भाव 80 रुपये प्रति किलो को पार कर गया है, जबकि दिल्ली-एनसीआर के बाजारों में खुदरा प्याज 80-120 रुपये किलो बिक रहा है।
केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय में सचिव अविनाश कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई बैठक में प्याज की महंगाई पर नियंत्रण रखने के लिए कई अहम फैसले लिए गए। मंत्रालय की ओर सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर प्याज की मांग और आपूर्ति की जिलास्तर पर निगरानी करने को कहा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve − four =