पुलवामा में साल के आखिरी दिन, 5 जवान शहीद, तीन जख्मी, रात सवा दो बजे हुआ हमला

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के श्रीनगर से महज 3० किलोमीटर पर स्थित पुलवामा में बने सीआरपीएफ कैंप पर साल के आखिरी दिन आंतकियों ने हमला कर दिया। इस हमले में बताया जा रहा है सीआरपीएफ के 5 जवान शहीद हुए हैं जबकि तीन जवानों के घायल होने की सूचना है। रात करीब सवा दो बजे हुए इस हमले के बाद से सीआरपीएफ के जवान अभी भी मोर्चा संभाले हुए हैं। सीआरपीएफ के कैंप के आस-पास अभी भी कुछ आंतकियों के छिपे होने की सूचना है। जिसके लिए सीआरपीएफ का आपरेशन जारी है। पुलवामों में हुई घटना के बाद सीआरपीएफ के और जवानों ने भी लगातार मोर्चा संभाला हुआ है। इसमें दो आतंकी भी ढेर हुए हैं।
जैश ए मोहम्मद ने ली हमले की जिम्मेदारी
आंतकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। ऐसा माना जा रहा है कि भारतीय जवानों ने जैश ए मोहम्मद के अभी कुछ दिन पहले आंतकियों को मारा गिराया था। जिसके बाद ये हमला हुआ है। बताया जा रहा है कि इस हमले को लेकर एलर्ट भी जारी था लेकिन चूक कहां पर जो आंतकवादी हमला करने में सफल हुए।

सात घंटे से लगातार जारी है एनकाउंटर

सीआरपीएफ जवान और आंतकियों के बीच पिछले सात घंटो से आपरेशन जारी है। सेना के कैंप में तार काटकर घुसे आंताकियों ने अंधेर का फायदा उठाया है। आंतकी एके 47 रायफल से लैश थ्ो। वहीं फौज और पुलिस फोर्स के अधिकारी भी मौके पर मॉनीटर कर रहे हैं।

दक्षिण कश्मीर में इंटरनेट सेवा बंद
इस हमले के बाद दक्षिण कश्मीर में इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि सीमापार से पहले से घुसे आंतकियों ने ये हमला किया है। एक अनुमान के मुताबिक करीब 3०० आंतकी इधर मौजूद थ्ो। जिसमें आपरेशन ऑलआउट में करीब 215 आंतकियों को सेना ने मार गिराया है।

श्रीनगर से महज 3० किलोमीटर दूरी पर स्थित पुलवामा में बने सीआरपीएफ कैंप पर ये हमला हुआ है। हमले के बाद तत्काल एक्शन लिया गया है। हमारे जवान पूरे आपरेशन को अंजाम दे रहे हैं। किसी भी प्रकार की लापरवाही न होने पाये इसके लिए भी ध्यान दिया जा रहा है। अचानक हुए इस हमले के बाद हमारे जवान लगातार मोर्चा संभाल रहे हैं।
आरआर भटनागर डीजी सीआरपीएफ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 3 =