अब ऑनलाइन सत्यापित हो जायेंगे यूपी बोर्ड के अंकपत्र व प्रमाण पत्र

लखनऊ। माध्यमिक शिक्षा परिषद ने सभी छात्र-छात्राओं की सुविधा के लिए बड़ा कदम उठाया है। अब कोई भी सरकारी नौकरी ज्वॉइन करने के बाद सत्यापन के लिए महीनों इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अब सभी अंकपत्र और प्रमाण पत्रों का सत्यापन ऑनलाइन ही हो जायेगा। बोर्ड की ओर से वेबसाइट पर पिछले 16 साल का परिणाम अपलोड कर दिया गया है। बता दें कि यूपी बोर्ड से जुड़े 27 हजार से अधिक राजकीय, सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालय और वित्तविहीन विद्यालय में से प्रत्येक में कितने कमरे हैं, कितने शिक्षक, उनकी योग्यता, उपलब्ध संसाधन, सबकुछ बोर्ड की वेबसाइट पर मौजूद है।
यूपी बोर्ड ने 2003 से 2019 तक की हाईस्कूल-इंटरमीडिएट परीक्षा का रिजल्ट अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दिया है ताकि ऑनलाइन सत्यापन कराया जा सके। इसका नतीजा यह हुआ कि 68500 शिक्षक भर्ती में चयनित हजारों शिक्षकों का वेतन ऑनलाइन सत्यापन से ही जारी हो गया।
यूपी बोर्ड की कार्यशैली में बदलाव का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है 2020 में पहली बार सभी आठ हजार से अधिक परीक्षा केंद्रों की वेबकास्टिंग होगी। यानि प्रदेश के किस केंद्र पर क्या चल रहा है यह लखनऊ या इलाहाबाद से बैठकर एक क्लिक पर देखा जा सकेगा। वेबकास्टिंग के लिए प्रत्येक जिले में कंट्रोल रूम भी बनाया जाएगा जिसकी मॉनीटरिंग डीएम की ओर से नामित अधिकारी करेंगे। यूपी बोर्ड की 2018 परीक्षा से केंद्रों की निगरानी सीसीटीवी से होने लगी। 2019 में सीसीटीवी के साथ ही वॉयस रिकॉर्डर भी लगवा दिए गए ताकि बोल-बोल कर नकल न हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 + 2 =