जेल में अब नहीं चलेगी माफियाओं की मनमानी, योगी सरकार ने उठाया ये कदम

Foto INT

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद गुंडे माफियाओं के नेटवर्क को समझने और उनकी करतूतों की निगरानी करने के लिए योगी सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है। प्रदेश की उन 43 जेलों में योगी सरकार ने सीसी टीवी कैमरे लगाने का निर्णय लिया है जहां पर बाहुबली से लेकर बड़-बड़े अपराधी बंद हैं। सरकार की ओर से इसके लिए कारागार प्रशासन महानिरीक्षक को दिशा निर्देश भी सरकार की ओर से जारी कर दिए गयें हैं। ऐसेमें 43 जेलों में कैमरे लगायें जायेंगे। इसके लिए 6.1 करोड़ की धनराशि भी मंजूर हो चुकी है। जिसमें काम करने वाली संस्था को 2,40,44,384 रुपए बजट उपलब्ध भी करवा दिया गया है।
जेलों से फरार नहीं हो सकेंगे कैदी
-सीसी टीवी कैमरे लगने के बाद कैदियों के लिए जेल से फरार होना आसान नहीं होगा। बताया जा रहा है कैदियों पर निगरानी के लिए सीसी टीवी कैमरे अहम भूमिका निभायेंगे। इन कैमरों के माध्यय से पूरी जेल की मॉनीटरिंग लगतार की जायेगी। ऐसे में यदि कोई कैदी फरार होने की कोशिश करता है तो उसके बारे में तुरंत पता चल जायेंगा।
सोनभद्र और बागपत में पहले लगेंगे कैमरे
शासनादेश के मुताबिक प्रदेश के सोनभद्र और बागपत जिलें में पहले सीसी टीवी कैमरे लगाये जायेंगे। वैसे तो कुल 43 जिलों में कैमरे लगायें जायेंगे। कैमरे की क्वालिटी भी ठीक रहेगी ताकि मॉनीटरिंग करने में आसानी होगी। इसमें नाइट विजन कैमरे भी शामिल रहेंगे।
महानिरीक्षक कारागार की होगी क्वालिटी की जिम्मेदारी
कैमरे की क्वालिटी में खेल नहीं चलेगा। इसकी जिम्मेदारी महानिरीक्षक कारागार को सौैपी गयी है। ऐसी स्थिति में कैमरे हाई क्वालिटी के लगायें जायेंगे। क्वालिटी में कुछ गड़बड़ी पायी जाती है तो इसके लिए सीधे तौर पर महानिरीक्षक कारागार की जिम्मेदारी होगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + eleven =