अब नगर निकायों में भर्ती अधीनस्थ सेवा चयन आयोग से, सीएम योगी ने पलट फैसला

लखनऊ। अब नगर निकायों में कर्मचारियों की भर्ती अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के माध्यम से होगी। मंगलवार को आयोजित कैबिनेट की बैठक में ये निर्णय लिया गया। कैबिनेट के फैसलों की जानकारी देते हुए प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी ने बताया कि नगर निकायों में भर्ती आयोग के माध्यम से भर्ती होंगी। बताया जा रहा है कि नगर निगम, नगर पालिका परिषद और नगर पंचायत आदि में केंद्रीयत व अकेंद्रीयत सेवाओं के करीब 25०० पद खाली हैं। कैबिनेट के फैसले से इन पदों पर आयोग ही भर्तियां करेगा। हालांकि सपा सरकार में ऐसा नहीं था। सीएम योगी ने अब इस फैसले को पलट दिया है।

मैट्रों के लिए हुआ ये फैसला
-यूपी मैट्रो रेल कॉर्पोरेशन के गठन के प्रस्ताव को मिली मंजूरी
-अब जिन भी शहरों में मेट्रो आएगी, उसका काम इस कॉर्पोरेशन की देखरेख में होगा।
– किसी भी शहर के लिए अलग से मेट्रो कॉर्पोरेशन का गठन नहीं होगा।
-लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन को भी इसके अधीन लाया जाएगा।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए हुआ ये फैसला
-पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिए नए सिरे से मांगे जाएंगे टेंडर।
-पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को अयोध्या, गोरखपुर व वाराणसी से भी जोड़ा जाएगा।
-पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का 131०० करोड़ रुपये से होगा निर्माण
-पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का 131०० करोड़ रुपये से होगा निर्माण
-एक्सप्रेस-वे के लिए वित्तीय व तकनीकी बिड की प्रक्रिया 25 मार्च तक पूरी कर ली जाएगी।
– निर्माणकर्ताओं के चयन के लिए दो चरणों में निविदाएं आमंत्रित की जाएंगी।
-इस परियोजना के लिए कुल 4332.33०० हेक्टेयर जमीन की जरूरत बतायी जा रही है।

आजमगढ़ बाईपास के लिए ये हुआ निर्णय
-आजमगढ़ बाईपास के लिए भी निर्णय लिया गया
-ये बाईपास पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को भी वारणासी से जोड़ेगा।
-15 वर्ष के लिहाज से डिजाइन होगा एक्सप्रेस-वे
– पहले एक्सप्रेस-वे 1० वर्ष की जगह 15 वर्ष के लिए डिजाईन होगा।
– सड़क का दायरा (राइट ऑफ वे) भी 11० मीटर से बढ़ाकर 12० मीटर रखा जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 1 =