अब यूपी में सात मीटर से कम चौड़ी नहीं बनेगी सड़कें

लखनऊ। यूपी की अब सड़के सात मीटर से कम चौड़ी नहीं बनेंगी। साथ ही सड़कों की गुणवत्ता भी सुधरेगी। सड़कों की समस्या और उसमें सुधार को लेकर डा. भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी में आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस समाप्त होने के बाद रविवार को प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के विश्वश्वरैया सभागार में प्रेस वार्ता करते हुये कहा कि मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि लखनऊ कॉन्फ्रेंस में 14 राज्यों के लोक निर्माण मंत्री प्रदेश के प्रतिष्ठित संस्थानों के प्रोफ़ेसर एवं विशेषज्ञों एवं केन्द्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान से आये तकनीकी विशेषज्ञों तथा वैज्ञानिकों के साथ अन्य देशों से आये तकनीकी विशेषज्ञों व विभिन्न प्रान्तों से आये वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने भाग लिया, और अपने विचार व्यक्त किये तथा नई तकनीक व नई पे्रक्टिस के सम्बन्ध में अनमोल सुझाव दिये। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि विशेषज्ञों द्बारा मार्गों के निर्माण हेतु देश तथा विदेशों में अपनायी गई नई तकनीक के आयामों पर चर्चा की गयी, जिसमंे आधुनिकतम मशीनों के उपयोग से लागत में कमी लाए जानें, निर्माण का समय कम करने के साथ सड़कों के अनुरक्षण तथा मरम्मत में कैसे नई तकनीक एवं नई मशीनों का उपयोग किया जा सके, इस पर भी गहन विचार-विमर्श हुआ। मार्गोंपर यातायात की सुरक्षा के लिए भी अनेक प्रस्ताव व सुझाव दिये गये। देश के विशषज्ञों के साथ जर्मनी, फ्रांस व नीदरलैण्ड के विशेषज्ञों द्बारा भी कॉन्फ्रेंस में भाग लिया गया व अनेक देशों में नई तकनीक के प्रयोग के सम्बन्ध में कॉन्फ्रेंस को अवगत कराया गया। श्री मौर्य ने कहा कि अब प्रदेश में 7 मीटर से कम चैड़ी सड़के नहीं बनेगी। हमारा प्रयास है कि कम से कम दो लेन सड़क बने, इसके साथ ही ठेकेदारो की समस्याओं का निराकरण कराने हेतु कान्फ्रेंस की जायेंगी तथा सभी कार्य पूर्ण पारदर्शिता, गुणवत्ता एवं समयबद्धता के साथ होंगे। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग हर दिन नये कदम व नयी दिशा की ओर बढ़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four + 14 =