सचिव के 6 आदेशों के बाद भी आईटीआई कर्मचारियों की पदोन्नति नहीं, जनवरी में उठायेंगे ये कदम

लखनऊ। मुख्य सचिव और कर्मिक सचिव स्तर पर 6 बार आदेश आया और उसे प्रशिक्षण एवं सेवायोजन निदेशालय की ओर से दरकिनार कर दिया गया। इस बात से नाराज औधोगिग प्रशिक्षण संस्थान आईटीआई के कर्मचारी जनवरी माह से आंदोलन का रास्ता अपनाने जा रहे हैं। इस बात की जानकारी आयोजित बैठक के दौरान औधोगिक प्रशिक्षण स्थान कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष ओपी सिंह और महामंत्री अनिल कुमार पाठक ने दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में मुख्य सचिव और कर्मिक सचिव स्तर पर आईटीआई कर्मचारियों की पदोन्नति से संबधित 6 बार आदेश आ चुके हैं लेकिन पदोन्नति नहीं की गयी। 46०० ग्रेड पे और अनुदेशक और कार्यदेशक का पदनाम परिवर्तित किए जाने का आदेश था। उन्होंने कहा कि अब कर्मचारी इससे ज्यादा और इंतजार नहीं कर सकते हैं ऐसे में अब जनवरी माह से आंदोलन का रास्ता अपनाया जायेगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए जनवरी के पहले सप्ताह में कार्यकारिणी भी गठित कर दी जायेगी। जिसके बाद आंदोलन की रणनीति तय की जायेगी।

इन तिथियों में सचिव के आ चुके हैं आदेश
-3 अगस्त 2०17
-8 सितंबर 2०17
-26 सितंबर 2०17
-16 अक्टूबर 2०17
-18 अक्टूबर 2०17
-24 नवंबर 2०17  

पांच सौ पदों पर होनी है पदोन्नति
अलग-अलग दिनों में 6 बार जारी आदेश के मुताबिक 5०० पदों पर पदोन्नति होनी है। ये भी सभी पद कार्यदेशक और अनुेशक लेवल के हैं। आदेशों में स्पष्ट रूप से सभी विभागों में पदोन्नति के रिक्त पदों को भरे जाने के स्पष्ट आदेश जारी किए गए है। लेकिन प्रशिक्षण एवं सेवायोजन निदेशालय द्बारा अनुदेशक से कार्यदेशक के रिक्त लगभग 5०० पदो पर अब तक पदोन्नति नही की गई। इससे संवर्ग में काफी रोष व्याप्त है। इसके अलावा अनुदेशक से कार्यदेशक व कार्यदेशक से प्रधानाचार्य 2 के पदो पर पदोन्नति सहित अनुदेशकों का ग्रेड पे 46०० किये जाने व अनुदेशक/ कार्यदेशक का पदनाम परिवर्तित किये जाने सम्बंधी मांगों पर सहमति के बावजूद अब तक कोई आदेश निर्देश नहीं जारी किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × five =