पूर्वोत्तर रेलवे ने इस वित्तीय वर्ष में दर्ज की बड़ी उपलब्धियां,540 किमी रेलपथ का विद्युतीकरण

लखनऊ । पूर्वोत्तर रेलवे ने वित्तीय वर्ष 2019—20 में कई बड़ी उपलब्धियां दर्ज की है। वित्तीय वर्ष के समाप्ति में कोविड—19 वायरस पर अंकुश लगाने के लिए भी रेल प्रशासन संर्घष कर रहा है। लगातार मा​लगाड़ियों व विशेष पार्सल ट्रेनें संचालन करने के साथ रेलवे ​मंडलीय चिकित्सालय आइसोलेशन वार्ड की व्यवस्था की है। यह जानकारी देते हुये पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंर्पक अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने बताया कि वर्ष 2019-20 में कुल 540 रूट किमी रेलपथ का विद्युतीकरण किया गया, जिसमें वाराणसी मंडल के थावे-राजापट्टी,राजापट्टी-छपरा कचहरी खण्डों का विद्युतीकरण सम्मिलित है। इसी प्रकार वाराणसी मंडल के भटनी-औड़िहार खण्ड का विद्युतीकरण लगभग पूरा हो चुका है। रेल संरक्षा आयुक्त के निरीक्षण स्वीकृति के उपरान्त इस रेल खण्डों पर विद्युत इंजन चालित गाड़ियों का संचलन शुरु हो जायेगा।पूर्वोत्तर रेलवे पर सभी बड़ी लाइन रेल खण्डों के विद्युती करण का कार्य स्वीकृत है तथा उन्हें निर्धारित समयावधि में पूर्ण कर लिया जायेगा। रेल खण्डों के विद्युतीकरण से न सिर्फ पर्यावरण को लाभ पहुंचेगा बल्कि डीजल आयात पर होने वाली विदेशी मुद्रा की बचत होती है। डीजल टैक्शन की अपेक्षा विद्युत टैक्शन से गाड़ी संचलन पर व्यय काफी कम होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 1 =