यूपी में इस साल कोई भी स्कूल कॉलेज नहीं बढ़ा सकेगा फीस, सभी जिलो के डीएम को आदेश जारी देखे कॉपी

लखनऊ। लखनऊ समेत समूचे उत्तर प्रदेश में कोई भी स्कूल कॉलेज अब नये शैक्षिक सत्र 2020—21 में फीस की बढ़ोत्तरी नहीं कर सकेगा। इस संबंध में सभी जिलों के जिलाधिकारियों की जिम्मेदारी सौंपी गयी है साथ ही प्रमुख सचिव माध्यमिक आराधाना शुक्ला की ओर से आदेश भी जारी कर दिया गया है। प्रमुख सचिव ने ये आदेश उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा की ओर से आयोजित बैठक के बाद ​जारी किया है। आदेश के मुताबिक शैक्षणिक सत्र 2019–20 में नए प्रवेश तथा प्रत्येक कक्षा के लिए बताए गए शुल्क संरचना के अनुसार ही शैक्षणिक सत्र 2020–21 में छात्र छात्राओं से शुल्क लिया जाएगा। इस बारे में उप मुख्यमंत्री डॉ ​दिनेश शर्मा ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न असाधारण परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए छात्रों और अभिभावकों के हित में शैक्षिक सत्र 2020–21 में विद्यालयों द्वारा शुल्क वृद्धि ना किए जाने के निर्देश दिए हैं। प्रमुख सचिव के मुताबिक जो स्कूल कॉलेज अधिक फीस अभिभावकों से वसूल चुके हैं वह आगामी फीस में उसको शामिल करें, उन्होंने कहा कि अभिभावकों को किसी भी हाल में परेशान न किया जाये। इसके साथ ही स्कूल संचालन के दौरान किसी भी बच्चो को न तो शिक्षा से वंचित किया जायेगा न ही उसका नाम काटा जा सकता है।

प्रमुख सचिव का आदेश सभी स्कूलों पर होगा लागू
प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा,आराधना शुक्ला की ओर से जिलाधिकारियों को जारी आदेश सभी स्कूलों पर लागू होगा। प्रमुख सचिव ने माध्यमिक शिक्षा निदेशक विनय कुमार पाण्डेय को भी आदेश जारी करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से आयी परेशानी को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में संचालित सभी बोर्डों प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) भारतीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (आईसीएसई), इंटरनेशनल बेक्कलॉरेट (आई बी) और इंटरनेशनल जनरल सर्टिफिकेट आफ सेकेंडरी एजुकेशन (आईजीसीएसई) के द्वारा शैक्षणिक सत्र 2020–21 के लिए शुल्क में वृद्धि नहीं की जाएगी साथ ही शैक्षणिक सत्र 2019–20 में नए प्रवेश तथा प्रत्येक कक्षा हेतु बताए गए शुल्क संरचना के अनुसार ही शैक्षणिक सत्र 2020–21 में छात्र/छात्राओं से शुल्क लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven − 2 =