यूपी में लागू हुआ नया यातायात नियम, आप भी जान लीजिए, नहीं तो चुकानी पड़ सकती है भारी कीमत

न्यूज डेस्क। प्रदेश में बढ़ते सड़क हादसों को रोकने के लिए योगी सरकार हर संभव कदम उठा रही है, लेकिन लोग अपनी लापरवाही से बाज नहीं आ रहे हैं। अब योगी सरकार ने नई अधिसूचना जारी करते हुए उन लोगों पर दस हजार रूपए जुर्माना लगाने का निर्णय लिया है जो अपने वाहनों को चलाते समय मोबाइल पर बातचीत करते रहते हैं।

सीट बेल्ट, हेलमेट न लगाया तो दोगुना देना होगा जुर्माना
यूपी में अब टू व्हीलर वाहन चलाते समय हेलमेट और 4 व्हीलर वाहन चलाते समय सीट बेल्ट नहीं लगायी तो दोगुना जुर्माना देना होगा। यानी अब ऐसा करने पर एक हजार रुपये का दंड भुगतना पड़ेगा। इसी प्रकार वाहन चलाते समय यदि मोबाइल पर बात करते हुए पहली बार पकड़े गए तो एक हजार रुपये व दूसरी बार पकड़े जाने पर सीधे 10 हजार रुपये का चालान भरना होगा।

गलत पार्किंग पर 1500 रूपए जुर्माना
प्रदेश सरकार ने गलित पार्किंग पर रोकथाम के लिए जुर्माना बढ़ा दिया है। ऐसे में प्रमुख सचिव परिवहन राजेश कुमार सिंह की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार गलत पार्किंग पर पहली बार 500 रुपये व दूसरी बार में 1500 रुपये जुर्माना देना होगा। अभी तक पार्किंग नियमों का पालन न करने पर पहली बार में 500 रुपये व दूसरी बार एक हजार रुपये ही जुर्माना लगता था।

फाय​र​ बिग्रेड वाहन को रस्ता न दिया तो 10 हजार जुर्माना
प्रदेश के किसी भी सड़क पर यदि फायर बिग्रेड की गाड़ी जा रही है और वह सायरन बजाते हुए रास्ता दिए जाने की मांग करती है तो उसे दायें बायें होकर तत्काल रास्ता देना होगा, ऐसा न करने पर सख्त कार्रवाई के साथ आप पर दस हजार रूपए जुर्माना लगाया जा सकता हैं

ड्राइविंग लाइसेंस पर गलत जानकारी तो दस हजार जुर्माना
ड्राइविंग लाइसेस में गलत तथ्य पर पहले 2500 जुर्माना लगता था इसे बढ़ाकर अब 10 हजार रुपये कर दिया गया है। नए यातायात नियमों के अनुसार अधिकारी की बात नहीं मानने और उसके काम में बाधा डालने पर दो हजार का जुर्माना देना होगा, जबकि इससे पहले 1 हजार रूपए वसूल किए जाते थे।

फर्जी दस्तावेजों से आसान नहीं होगा वाहन बेचना
प्रदेश सरकार ने सबसे बड़ा कदम यह उठाया है कि कोई भी व्यक्ति दूसरे व्यक्ति को फर्जी डाक्यूमेंट्स के आधार पर अपने वाहन न बेच सके। ऐसा करते पकड़े जाने पर आरोपी को उसे प्रत्येक वाहन के हिसाब से एक लाख रूपए जुर्माना देना पड़ेगा।

बिना लाइसेंस व बिना वैध लाइसेंस वाहन चलाने पर 5 हजार रूपए जुर्माना
अब कोई अगर बिना लाइसेंस के वाहन चालाता पाया जाता है या फिर लाइसेंस की अवधि समाप्त हो चुकी है तो उसे पांच हजार का जुर्माना देना पड़ेगा। इसके साथ ही तय गति सीमा से अधिक वाहन चलाने पर भी सख्त कार्रवाई का प्राविधान किया गया । अधिक तेज कार चलाने पर दो हजार रुपये और यात्री व माल वाहन के लिए यही जुर्माना चार हजार रुपये होगा।

14 साल बच्चे वाहन चलाते मिले तो 5 हजार जुर्माना
बिना लाइसेंस या 14 साल से कम उम्र के बच्चे बिना वैध लाइसेंस के वाहन चलाते पकड़े गए तो उन्हें पांच हजार रुपये जुर्माना देना होगा। साथ ही वाहन स्वामी पर कार्रवाई की प्राविधान किया गया है।

बिना अनुमति के नहीं ले सेंगे रेस में भाग
अब कोई टू व्हीलर या फोर व्हीलर वाहन से रेसिंग का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है तो उसके लिए सरकार से अनुमति लेनी होगी, ऐसा अगर नहीं किया गया तो 10 हजार रूपए जुर्माना लगाया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.