साइबर अपराध संदेह में 122 चीनियों को नेपाल पुलिस ने पकड़ा

काठमांडू। दुनिया में साइबर अपराध बड़ी संख्या में बढ़ रहे हैं। ऐसे में नेपाल पुलिस ने देश में बड़ी धोखाधड़ी और जालसाजी के मामले का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने 122 चीनी नागरिकों को इस मामले में पकड़ा है। काठमांडू में नेपाल के पुलिस प्रमुख उत्तम सुबेदी ने बताया कि सोमवार को विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी के बाद 122 चीनी नागरिकों को पकड़ा गया। इन पर साइबर क्राइम और एटीएम मशीनों को हैक करके बैंक धोखाधड़ी की घटनाओं को अंजाम देने का संदेह है। फिलहाल, चीनी दूतावास के अधिकारियों का इस बारे में कोई बयान सामने नहीं आया है।
मालूम हो कि भारत में भी साइबर क्राइम के मामलों चिंताजनक बढ़ोतरी हुई है। अकेले गुजरात में ही पिछले दो साल में साइबर क्राइम की घटनाओं में 90 फीसद की बढ़ोतरी हुई है। नेशनल क्राइम ब्यूरो द्वारा जारी आंकड़ो के मुताबिक, गुजरात में साल 2015 में साइबर क्राइम के 242 जबकि वर्ष 2017 में 458 मामले दर्ज हुए। साल 2018 साइबर क्राइम की जो घटनाएं दर्ज हुई है, उसमें सबसे अधिक 42 ऑनलाइन ठगी, 41 एटीएम फ्रॉड, 14 वन टाइम पासवर्ड की शिकायतें हैं। खास तौर पर अहमदाबाद में साइबर क्राइम सबसे अधिक शिकायत दर्ज हुई हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि मौजूदा वक्त में जैसे-जैसे स्मार्ट फोन का उपयोग बढ़ रहा है। वैसे ही साइबर क्राइम के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। विशेषज्ञों का मानना है कि स्मार्ट फोन एक कांच की दीवार की तरह है जिसमें बेहद सावधानी बरतनी पड़ती है। साइबर अपराधियों से खुद को बचाने के लिए बेहतर है कि आप अपने कार्ड का पासवर्ड बदलते रहें साथ ही किसी को अपना पासवर्ड बताएं। साथ ही सोशल मीडिया पर फर्जी आईडी बनाकर गुमराह करने वालों से भी सावधान रहना चाहिए। किसी को फोन पर पासवर्ड या वन टाइम पासवर्ड नहीं बताना चाहिए। कुछ भी संदिग्ध दिखने पर तुरंत बैंक से संपर्क करें। (एजेंसी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × three =