न शीतकालीन अवकाश की स्थिति स्पष्ट, न शिक्षकों की सर्विस बुक सुरक्षित, एडीबेसिक को RSM ने सौंपा पत्र

लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से संचालित प्राथमिक और जूनियर विद्यालयों में इस साल शीतकालीन अवकाश को लेकर ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है। ऐसे में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने इस संबंध में मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक (एडी) पीएन सिंह को पत्र सौंप कर स्थिति साफ करने की मांग की है। इस संबंध में लखनऊ मंडलीय अध्यक्ष महेश मिश्रा ने एडी बेसिक को अवगत कराया सभी जिलों में शीतकालीन छुट्टी को लेकर स्थिति साफ नहीं है, ऐसे में टाइम एंड मोशन स्टडी के आधार पर शीतकालीन अवकाश प्रदान किया जाना चाहिए। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि इस संबंध में स्पष्ट आदेश जारी किया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि शिक्षक विद्यालय में जुलाई से उपस्थित है जबकि बच्चे नहीं जा रहे हैं । बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा दी जा रही है तथा अन्य प्रशिक्षण भी शिक्षक ऑनलाइन ही कर रहा है।
शिक्षकों की सुरक्षित नहीं है सर्विस बुक
एडी बेसिक को अवगत कराया गया कि शिक्षकों की बीआरसी पर खंड शिक्षा अधिकारियों के पास रखी सर्विस बुक सुरक्षित नहीं है। सर्विस बुक को फोर्थ क्लास कर्मचारियों हवाले रखा गया हैं, ऐसे में अगर सर्विस बुक गायब होती है तो भविष्य में शिक्षकों के साथ बड़ी समस्या हो सकती है।

कड़ाके की ठंड में दूरदराज से जा रहे शिक्षक
एडी बेसिक को बताया गया कि भीषण ठंड और कोहरे की स्थिति में दूरदराज के विद्यालयों में शिक्षकों का अकेला जाना किसी अनहोनी को न्योता दे सकता है। शीतकाल के अवकाश के समय घर से भी शिक्षक नेटवर्क की सुविधा के साथ सभी ऑनलाइन कार्य नेटवर्क की सुविधा के कारण ज्यादा अच्छे से कर सकता है। इस मौके पर राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के पंकज शुक्ला, जिला संयुक्त मंत्री अजय सिंह ,राजीव गौड़, डॉक्टर श्वेता मंडल महामंत्री उपस्थित थे।