जरा सी लापरवाही पड़ सकती है भारी, देश में कोरोना संक्रमित मरीजों संख्या 37 हजार से अधिक, 1218 की मौत

न्यूज डेस्क। कहते हैं जब दुश्मन की जब पहचान न हो सके और वह छुपकर वार कर रहा है तो खुद के छुप जाने में ही भलाई है। ये कहावत वर्तमान समय को देखते हुए सटीक बैठ रही है। देश में लॉकडाउन की घोषणा तीसरी बार हो चुकी है, क्योंकि कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है, और मरने का वालों का आकडा भी बढा हुआ है। वर्तमान समय को देखते हुए यदि जरा सी भी लापरवाही की तो वह हम पर भारी पड़ सकती है। ‘कोविड-19′ संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि के 24 घंटों के दौरान नये मामले सामने आने के साथ ही देश में संक्रमितों की संख्या 37 हजार से अधिक तथा इसके कारण मौत होने से मृतकों की तादाद 1218 हो गई है।
26 हजार 167 मरीज सक्रिय, साढे नौ हजार हुए स्वास्थ्य
देश के 32 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना वायरस के अब तक कुल 37 हजार मामलों की पुष्टि हुई है जिनमें 111 विदेशी मरीज शामिल हैं। कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने के मामलों में भी लगातार वृद्धि हो रही है और पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने के साथ ऐसे लोगों की संख्या 9951 तक पहुंच गई। देश में वर्तमान में 26,167 संक्रिय मामले हैं।
महाराष्ट्र सबसे अधिक प्रभावित
स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह पांच बजे जारी आंकड़ों के अनुसार कोरोना वायरस से सबसे अधिक गंभीर रूप से प्रभावित महाराष्ट्र में स्थिति में कोई सुधार हाेता नहीं दिख रहा है और पिछले एक दिन में 583 नये मामलों के बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या 10,498 पर पहुंच गई है और इस दौरान 27 और लोगों की मौत के बाद इस महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 459 हो गई है। राज्य में 1773 संक्रमित मरीज ठीक हो चुके हैं।
लोगों से घरो मे रहने की अपील
बता दें कि कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगताार बढ़ने से सभी राज्यों के मुख्यमंत्री वह देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से लगातार लॉकडाउन का पालन करने की अपील की जा रही है। कहा जा रहा है लोग जितना घर में सुरक्षित रहेंगे उतना बाहर नहीं रहेंगे ऐसे में खुद का ख्याल करते हुए दूसरों का भी ख्याल रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen + fifteen =