गुरू शिष्य की परंपरा को बनाये रखना जरूरी, एकेटीयू में शिक्षक हुए सम्मानित

लखनऊ। डा. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय के 11 शिक्षकों को शिक्षक दिवस के मौके पर सम्मानित किया गया। निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों के इन शिक्षकों ने सम्मान पाकर विश्वविद्यालय को आभार भी प्रगट किया। इस मौके पर पूर्व कुलपति प्रो आरएस निर्झर बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम में मौजूद थे। लखनऊ के एक निजी संस्थान को दो कोर्सों में एनबीए एक्रीडिएशन मिलने पर उसे भी सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में कुलपति विनय पाठक ने कहा कि छात्र-शिक्षक परम्परा को बनाए रखने के लिए जरुरी है कि शिक्षक अपने अध्यापन व कार्यशैली में नयापन लाते रहना होगा। उन्होंने कहा कि टेक्नोलॉजी व गूगल सर्च के जमाने हमको मूक्स जैसे ऑनलाइन मंच के जरिए टीचिंग व लर्निंग को बढ़ावा देना होगा। मुख्य अतिथि प्रो आरएस निर्झर ने कहा कि हमारी संस्कृति शोध आधारित रही है। हमने दशमलव से लेकर ज्यामिति, केलकुलस, भौतिक विज्ञान, जीव विज्ञान व इंजीनियरिंग के क्षेत्र में पौराणिक काल में ही कई सिद्धांत दिए हैं।
इनको मिला सम्मान
कार्यक्रम में शिक्षक नवनीत कुमार पांडेण्य, नम्रता गुप्ता, हरिमोहन राय, चन्दन कुमार, भतेजा, आशीष अग्रवाल, सुधीर अग्रवाल, क्षितिज सिंघल, विवेक कुमार, प्रवीण कुमार गौड,अभिलाषा सिंह राघव शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 4 =