यूपी में पहली बार आयोजित हो रहा बेसिक शिक्षा विभाग का नेशनल काॅन्क्लेव, सरकारी स्कूलों की बदलेगी तस्वीर

लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर संचालित प्राइमरी और जूनियर विद्यालयों की तस्वीर मिशन प्रेरणा के जारिए बदली जायेगी। इसके लिए चार और पांच मार्च को नेशनल सेमिनार, मिशन प्रेरणा व सीएसआर काॅन्क्लेव का आयोजन किया जा रहा है। चार और पांच मार्च को डाॅ राम मनोहर लोहिया विधि विश्वविद्यालय में आयोजित होने वाले इस काॅन्क्लेव का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी (Yogi Adityanath )आदित्यनाथ की ओर से किया जायेगा। इस बारे में जानकारी देते तकनीकी शिक्षा निदेशालय में Tuesday को प्रेस काॅन्फ्रेस के दौरान बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डाॅ सतीश चन्द्र द्विवेदी ने बताया कि प्रदेश में बुनियादी शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार पर विशेष बल दिए जाने के उद्देश्य से महात्वकांक्षी मिशन प्रेरणा अभियान शुरू किया गया है। डाॅ द्विवेदी ने कार्यक्रम का शेड्यूल जारी करते हुए बताया कि दो दिन चलने वाले इस कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगी।
गूगल के सीईओ रखेंगे अपने विचार
इस कार्यक्रम में मिशन प्रेरणा लघु फिल्म भी प्रदर्शित की जायेगी। इस मौके पर गूगल के सीईओ बेसिक शिक्षा में सुधार और अपने योगदान को लेकर विचार साझा करेंगे। मंत्री ने बताया कि इस मौके पर कक्षा नौ से 12 तक कक्षाओं के संचालन के लिए केजीबीवी के पांच भवनों का शिलान्यास भी किया जायेगा।
नीति आयोग सीईओ भी होंगे मंच पर
दो दिवसीय इस कार्यक्रम में नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत भी इस मौके पर उपिस्थत रहेंगे। बेसिक शिक्षा मंत्री ने बताया कि सरकारी स्कूलों में सुधार को लेकर नीति आयोग के सीईओ अपने विचार भी रखेंगें उन्होंने कहा कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद सरकारी स्कूल एक मुद्दा बने लेकिन इससे पहले कोई चर्चा भी नहीं करता था।
दिव्यांग बच्चों के लिए सामथ्र्य तकनीकी प्रणाली
बेसिक शिक्षा मंत्री ने बताया कि दिव्यांग बच्चों के लिए सामथ्र्य तकनीकी प्रणाली का प्रयोग किया जायेगा। इस प्रणाली के तहत बच्चों दिव्यांग बच्चों को काफी लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि दिव्यांग बच्चों के लिए टैकिंग और शैक्षिक समावेशन की डिजिटल व्यवस्था का विमोचन किया जायेगा।
शारदा तकनीकी प्रणाली से चिन्हित हेंगे बच्चे
शारदा तकनीकी प्रणाली से पांच से 14 वर्ष के उम्र के सभी बच्चों को चिन्हित किया जायेगा। डाॅ द्विवेदी ने बताया कि सरकार का मिशन है कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहने पाये इसी उद्ेदश्य के साथ ये प्रणाली शुरू की जा रही है।
109 कंपनियां करेंगी फडिंग
मिशन प्रेरणा के तहत 109 कंपनियां फडिंग करेंगी। इस बारे में जानकारी देते हुए(Director General of Education Vijay Kiran Anand) शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनंद ने बताया कि मिशन प्रेरणा के तहत 114 करोड़ की फडिंग के लिए 109 कपंनियों के साथ एमओयू साइन हुआ है। इसमें एक्सेस बैंक, इलाहाबाद बैंक, इंडियन आॅयल जैसी कंपनियां शामिल हो रही हैं।
16 शैक्षिक संस्थानों के साथ हुए एमओयू
इस बारे में शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनंद (Director General of Education Vijay Kiran Anand) ने बताया कि सरकारी शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए 16 स्वैच्छिक संस्थाओं के साथ नाॅन फाइनेन्शियल एमओयू साइन किए गये हैं। इसके साथ ही नेशनल काॅक्लेव में कारपोरेट सेक्टर की अलग-अलग कंपनियां भी शामिल हो रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen + nine =