पॉलीटेक्निक के मेधावियों को मां के रूप में मेयर ने दिया आर्शीवाद

-राजकीय पॉलीटेक्निक का तीसरा दीक्षांत समारोह आयोजित
-राजधानी समेत प्रदेश भर के पॉलीटेक्निक कॉलेजों में सम्मानित हुए मेधावी
लखनऊ। राजकीय पॉलिटेक्निक में सोमवार को तीसरे दीक्षांत समारोह का आयोजन हुआ। इस दौरान संस्था के चार सौ पास हुए छात्र-छात्राओं को डिप्लोमा प्रमाण पत्र दिए जाने के साथ ही टॉपर्स को गोल्ड, सिल्वर और ब्रांज मेडल से सम्मानित किया गया। सम्मान पाकर मेधावियों के चेहरे खिल उठे। दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि महापौर संयुक्ता भाटिया ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा आप सबका इस नए भारत के विकास में बड़ा सहयोग होने वाला है, मैं मेयर नहीं बल्कि मां के तौर पर आप सबको उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं देती हूं। विशेष सचिव धीरेंद्र सिंह सचान ने अपने वक्तव्य में छात्र-छात्राओं की लगाई भविष्य की योजनाओं और दिव्यांगों के लिए बनाई गई व्हील चेयर की विशेष तारीफ की।
इससे पूर्व संस्था के प्रधानाचार्य डॉ. आरके सिंह ने मेयर स्वागत किया। वहीं मेडल वितरण कार्यक्रम के संचालक गणित के प्रो. बलराम सिंह चौहान और संयोजक इलेक्ट्रॉनिक्स विभागाध्यक्ष राकेश कुमार सरोज रहे। दीक्षांत समारोह में जनसंचार विभाग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सिविल समेत कुल 13 ब्रांचो के टॉप तीन मेधावी छात्र-छात्राओं को मेडल से सम्मानित किया। कार्यक्रम में विशेष सचिव धीरेन्द्र सिंह सचान, एआईसीटीई उत्तरी क्षेत्राधिकारी मनोज तिवारी, बोर्ड अप्रेन्टिसशिप ट्रेनिंग कानपुर डॉ. एसके मेहता, संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद के सचिव एसके वैश्य, पूर्व निदेशक ओपी वर्मा, पूर्व निदेशक एसएस राज, पूर्व संयुक्त निदेशक शैलेन्द्र चौधरी और संस्था के प्रधानाचार्य डॉ. आरके सिंह सहित अन्य सदस्य व छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।
प्रदेश भर के 46 हजार छात्र-छात्राओं को मिले डिप्लोमा
पॉलीटेक् िनक के प्रदेश भर के कॉलेजो में 46 हजार छात्र छात्राओं को डिप्लोमा वितरित किए गये। समारोह में प्रत्येक ब्रांच के टॉप थ्री मेधावियों के साथ कॉलेज टॉपर भी सम्मानित किया। इस दौरान अंतिम वर्ष के बच्चों के द्वारा प्रदर्शनी भी लगाई गयी। प्रविधिक शिक्षा परिषद सचिव संजीव कुमार सिंह के मुताबिक दीक्षांत कार्यक्रम का मुख्य आयोजन कानपुर के घाटमपुर स्थित राजकीय पॉलीटेक्निक में हुआ। इसमें प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने सिरकत की। दीक्षांत समारोह के दौरान प्रत्येक ब्रांच के टॉप थ्री छात्र-छात्राओं को मेडल प्रदान किए गये।
हीवेट में स्वर्गीय दिवाकर अस्थान पुरस्कार मिला
हीवेट पॉलीटेक्निक में दीक्षांत समारोह में कुल 12 मेधावियों को सम्मान दिया गया। प्रधानाचार्य यूसी बाजपेई के मुताबिक इस दौरान स्वर्गीय दिवाकर अस्थाना पुरस्कार भी प्रत्येक ब्रांच के प्रथम टॉपर को मिला। इसमें छात्रों को 2100 रुपये नकद पुरस्कार भी दिया गया।
लखनऊ पॉलीटेक्निक में एंटी रैगिंग टीम को मिला सम्मान
लखनऊ पॉलीटेक्निक लखनऊ (एलपीएल) में कुल 12 छात्रों को सम्मान मिला। संस्था टॉपर को डिप्लोमा फ्रेम कराकर दिया गया। इसके अलावा एंटी रैगिंग टीम को भी अलग से सम्मानित किया गया। मौके पर दो ब्रांड एम्बेसडर भी सम्मानित होंगे।
राजधानी की 13 ब्रांचों के ये रहे गोल्ड मेडलिस्ट
इनमें अंकुर दुबे (सीएचएन), आशुतोष वार्ष्णेय (पीएमटी), नीतू (इलेक्ट्रॉनिक्स), अंकित (मैकेनिकलऑटो), शशिभुषण (मैकेनिकल प्रो), मनाली (लाइब्रेरी साइंस), योगेश मिश्रा (मॉस कम्युनिकेशन), सौम्या (सिविल), अरशद (आर्किटेक्चर), सुभेन्द्र (पीजीडीसीए), ऋचा (वेब डिजाइनिंग), शशांक (इलेक्ट्रिकल), कविता (आईटी) को गोल्ड मेडल मिला। वहीं 82.03त्न प्राप्त कर मैकेनिकल प्रोडक्शन विभाग के शशिभूषण और 81.65 फीसदी अंक प्राप्त कर सिविल की सौम्या संस्था के बालक-बालिका वर्ग के टॉपर रहे।

posted by-Manisha Srivastava

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 + 4 =