कोरोना फैलाने में जालिम मुखिया की बड़ी साजिश, एसएसबी की 47वीं बटालियन का खुलासा

न्यूज डेस्क। नेपाल में रहने वाला जालिम मुखिया भारत में कोरोना वायरस फैलाने के लिए बड़ी साजिश रच चुका है। बताया जा रहा कोरोना संक्रमित 40 से 50 संदिग्धों को वह नेपाल के रास्ते भारत में प्रवेश करवा चुका है। जालिम मुखिया नेपाल में अवैध हथियारों की सप्लाई करता है। इस संबंध में एसएसबी 47 वीं बटालियन को पुख्ता जानकारी मिली थी नेपाल में रहने वाला एक अवैध हथियारों का तस्कर भारत मे कोरोना महामारी फैलाने की साजिश रच रहा है जिसका नाम जालिम मुखिया है। ये शख्स हथियारों का तस्कर है और भारत में कोरोना महामारी फैलाने के लिए इसने 40 से 50 कोरोना संदिग्धों को भारत भेजा है। इस सूचना के एसएसबी 47वीं बटालियन के कमान्डेंड ने बेतिया के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट को अलर्ट रहने को कहा है। साथ ही इस सूचना के साथ ही भारत-नेपाल सीमा पर अलर्ट रहने के लिए भी कहा गया है।
नेपाल सीमा पर लगे सात जिलों के थानेदार अलर्ट
भारत-नेपाल सीमा से लगे सात जिलों के थानेदारों को पत्र लिखकर कहा है कि नेपाल के रास्ते होकर आने वाले गुप्त रास्तों के पता लगाए। एसएसबी 47वीं बटालियन की ओर से 3 अप्रैल को ये पत्र लिखा गया और उसके तीन दिन बाद बिहार पुलिस ने भी एक पत्र जारी किया है।
जालिम नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) का है स्थानीय नेता
जानकारी के मुताबिक जालिम मुखिया को जालिम मियां के नाम से भी जाना जाता है। जालिम मुखिया बिहार नेपाल सीमा पर स्थित नेपाल के पर्सा जिले के जगरनाथपुर गांव पालिका का मेयर है। जालिम नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) का स्थानीय नेता है।
बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए भारत में 21 दिनों का लॉक डाउन किया गया हैं। अब तक भारत में 199 लोग इस जानलेवा वायरस की चपेट में आने के बाद अपनी जान गवां चुके हैं। वहीं 5700 से ज्यादा लोग अभी भी इस वायरस की चपेट में हैं।

इस संबंध में विश्वसनीय सूत्रों से जानकारी मिली थी कि जालिम मुखिया जो कि अवैध हथियारों का तस्कर है और नेपाल का ये रहने वाला है, वह भारत में कोरोना वायरस फैलाने की योजना बना चुका है। इस संबंध में पश्चिम चंपारण डीएम और एसपी को पत्र लिखकर सर्तक किया गया था।

प्रियव्रत शर्मा एसएसबी 47 वीं बटालियन रामगढ़वा पूर्वी चम्पारण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 + eighteen =