यूपी में जमा खोरों पर बड़ी कार्रवाई, 22 एफआईआर दर्ज, लॉकडाउन का उल्लघंन करनें में हजारों गिरफ्तार

न्यूज डेस्क। कोरोना वायरस से संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह अलर्ट नजर आ रही है। वहीं घरों में रह रहे लोगों को राहत पहुंचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। लेकिन लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले व जमाखोरों पर शिंकजा भी कस रही है। यही कारण है कि यूपी अलग-अलग जिलों में 3 हजार 710 ऐसे लोग हैं जिन पर लॉकडाउन का उल्लघंन करने के आरोप में एफआईआर दर्ज करायी गयी है। वहीं दूसरी ओर कुल 11 हजार 317 लोगों को अभियुक्त मानते हुए पुलिस ने 5 हजार 732 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस बात की जानकारी अपर मुख्य सचिव गृह व सूचना अवनीश अवस्थी ने दी है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने विभिन्न राज्यों में कार्यरत उत्तर प्रदेश के मूल निवासी श्रमिकों से लॉक डाउन अवधि में अपनी आजीविका वाले स्थान पर बने रहने की अपील की है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देशन में हमारी टीम निरन्तर कार्य कर रही है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी के जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन की संयुक्त पेट्रोलिंग सम्बंधी निर्देश के क्रम में जनपद से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार सभी 75 जनपदों में 7-9 घंटे जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में संयुक्त पेट्रोलिंग की गयी। उन्होंने यह भी बताया कि लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों पर पुलिस विभाग द्वारा व्यापक स्तर पर कार्यवाही की गयी है। पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में 3710 लोगों के विरूद्ध धारा 188 के तहत एफआईआर दर्ज की गई। कुल 11317 अभियुक्तों के सापेक्ष 5732 अभियुक्त गिरफ्तार किये गये। इसके अतिरिक्त कुल 381782 वाहनों की सघन चेकिंग की गई जिनमें से 93214 वाहनों का चालान किया गया और 8039 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 19206701 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। साथ ही 23518 वाहनों को आकस्मिक सेवाओं के लिए परमिट जारी किए गए। उन्होंने यह भी बताया कि कालाबाजारी, जमाखोरी पर व्यापक कार्यवाही करते हुए विभिन्न जनपदों में आज 20 एफआईआर दर्ज की गई हैं।
14 दिनों तक घर में रहने की सख्त हिदायत
अपर मुख्य सचिव गृह ने यह भी बताया कि विगत दो सप्ताह में देश के बाहर अथवा अन्य प्रदेशों से आये व्यक्तियों की पहचान कर उन्हें 14 दिनों तक घर में रहने की सख्त हिदायत के दृष्टिगत सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से 58322 ग्राम प्रधानों से सम्पर्क किया गया है, साथ ही शहरी क्षेत्र में 12322 पार्षदों से भी सम्पर्क किया गया। उन्होंने बताया कि अब तक लॉक डाउन के कारण से आ रही कुल 6796 समस्याएं मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर नोट कराई गई हैं जिनका प्राथमिकता के आधार पर समाधान सुनिश्चित किया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर प्राप्त शिकायतों में से 1196 समस्याओं को 112 तथा 116 समस्याओं को 108 पर त्वरित निस्तारण हेतु ट्रांसफर किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 1 =