हटना होगा लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एसपी सिंह को, सीबीआई करे जांच-लूटा

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एसपी सिंह के खिलाफ लखनऊ विश्वविद्यालय शिक्षक संघ लूटा ने मोर्चा खोल दिया है। शुक्रवार को संघ ने कुलपति को हटाए जाने का प्रस्ताव भी पारित कर दिया है। लूटा ने कुलपति पर वित्तीय अनिमितता का आरोप लगाया है। हालंाकि इस प्रस्ताव के बाद कुलपति के कुछ खास शिक्षकों की लूटा पदाधिकारियों से झड़प हो गई। इसमें प्राक्टर प्रो विनोद सिंह व प्रो संगीता रानी बैठक छोड़ कर चले गए। लूटा ने वित्तीय अनियमित्ताओं की सीबीआई जांच कराए जाने की मांग उठाई।
आक्रोशित शिक्षकों ने कुलपति पर जतायी नाराजगाी
VC SP Singh
शुक्रवार को लूटा ने टीचर्स स्टाफ क्लब में बैठक आयोजित की बैठक में बड़ी संख्या में शिक्षक मौजूद थे। शिक्षकों में कुलपति के तीन सालों के कार्यों को लेकर काफी रोष नजर आया। खासकर शिक्षकों की प्रोन्नति की चयन समिति में पक्षपात एवं अनियमितता किए जाने की जमकर आलोचना हुई। कार्य परिषद सदस्य व परशियन विभाग के डॉ तकी अली ने कहा बिना जांच के चयन समिति के लिफाफे नहीं खुलने चाहिए। साथ ही सदन ने विश्वविद्यालय में व्याप्त वित्तीय एवं शैक्षणिक अनियमितता की घोर निंदा की। सदन ने कहा कि कुलपति पिछले तीन सालों से मनमाने ढंग से काम किया है। लूटा अध्यक्ष डॉ नीरज जैन व महामंत्री डॉ विनीत ने कहा कि कहा कि कुलपति ने 3 साल में ठेकेदार और इंजीनियर की भूमिका में कार्य किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − six =