सीएम योगी समेत कई नेताओं पर दर्ज मुकदमें होंगे वापस, आदेश जारी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई नेताओं पर दर्ज हुए राजनितिक मुकदमें प्रदेश सरकार वापस लेगी। इस संबंध में आदेश भी जारी हो चुका है। राज्यपाल राम नाईक की अनुमति के बाद ये आदेश जारी हुआ है। बताया जा रहा है। जिन मामलों को वापस लिया जायेगा उसमें एक ही थाने के सारे मामले हैं। सभी मामले गोरखपुर के पीपीगंज थाना क्ष्ोत्र के हैं।
गोरखपुर के पीपीगंज थाने में दर्ज हुआ था केस
बताया जा रहा है कि मामला 1995 का है। जब योगी आदित्यानाथ सहित 13 लोगों के खिलाफ निष्ोधाज्ञा लागू होने पर भी धरना देने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था। जो जिन पर अन्य लोंगों के भी मामले वापस लिए जायेंगे उनमें केन्द्रीय मंत्री शिव प्रताप शुक्ला भी शामिल हैं।
इनके खिलाफ भी दर्ज हुआ था केस
-राकेश सिंह पहलवान
-कुंवर नरेन्द्ग सिंह
-समीर कुमार सिह
-शिवप्रताप शुक्ला
-विश्वकर्मा द्बिवेदी
-शीतल पाण्डेय
-विभ्राट चंद्र कौशिक
– उपेन्द्र शुक्ला
-शम्भूशरण सिह
– भानुप्रताप सिह
-ज्ञान प्रताप शाही
-रमापति त्रिपाठी

सरकार 2० हजार मामले वापस लेने की है तैयारी में
प्रदेश सरकार 2० हजार मामले वापस लेने की तैयारी कर रही है। इस पर विधानसभा में सीएम योगी ने बीते 21 दिसंबर को अपना कहा था कि राजनितिक तौर पर दर्ज मामले वापस लिए जायेंगे। उन्होने कहा कि 1०6/1०7 समेत कई केस ऐसे होते हैं जिनके दर्ज होने का पता तब चलता है जब वारंट आता है। ऐसे मामलों में कई बार गैर जमानती वारंट जारी हो जाते हैं। जिसमें दिक्कतों का सामना करना पड़ता है उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों को वापस लेना ही बेहतर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − seven =