अयोध्या में जानिए अब सुप्रीम कोर्ट के बाद किस तरह का बनेगा मंदिर

लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट ने वर्षों पुराने अयोध्या विवाद पर शनिवार को ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। उच्चतम न्यायालय ने केंद्र व यूपी सरकार को तीन महीने के भीतर मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाने का निर्देश दिया है। अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण बिल्कुल गुजरात के सोमनाथ मंदिर की तर्ज पर होगा।
बता दें कि सोमनाथ मंदिर के लिए भी केंद्र सरकार ने ट्रस्ट का गठन किया था। सरदार वल्लभभाई पटेल ने सोमनाथ मंदिर का पुनर्निर्माण कराया था। उस समय राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद भी मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा में शामिल हुए थे।
सोमनाथ मंदिर 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक माना जाता है। अरब यात्री अल बरूनी ने अपने यात्रा वृतान्त में इसका विवरण लिखा। इससे प्रभावित हो महमूद गजनवी ने 1025 में सोमनाथ मंदिर पर हमला किया। मंदिर की सम्पत्ति लूटी और उसे नष्ट कर दिया।
इसके बाद गुजरात के राजा भीम और मालवा के राजा भोज ने इसका पुनर्निर्माण कराया। 1297 में जब दिल्ली सल्तनत ने गुजरात पर कब्जा किया तो इसे फिर गिराया गया। सोमनाथ मंदिर के पुनर्निर्माण और विनाश का सिलसिला जारी रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − twelve =