कमलेश तिवारी के दोनो हत्यारे गिरफ्तार, जिसकी थी आशंका वही हुआ खुलासा, एटीएस ने गुजरात राजस्थान बार्डर से दबोचा

न्यूज डेस्क। लखनऊ में हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड के मुख्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। गुजरात एटीएस ने गुजरात और राजस्थान बार्डर से गिरफ्तार किया है। दोनो ही गिरफ्तार आरोपियों को नाम अशफाक और मोइनुद्दीन है, एटीएस की पूछताछ में दोनो हत्यारों ने अपना गुनाह भी कुबूल किया है। इन दोनो ही आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद अब यूपी पुलिस ने भी राहत की सांस ली है। आरोपियों का कहना है कि उन्होंने इस वारदात को कमलेश तिवारी के मुहम्मद पैगम्बर को लेकर दिए गए बयान के बाद किया है। इस बात की पुष्टिï भी हिमांशु शुक्ला डीआईजी एटीएस गुजरात ने दी है।
इससे पहले एजेंसियों के साथ काम कर रहे स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने इसी मामले में एक इनोवा कार जब्त की थी। कमलेश के कातिलों ने लखीमपुर में पलिया से शाहजहांपुर तक जाने के लिए इसे बुक किया था. कार के ड्राइवर को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया गया है.
सूत्रों के अनुसार, ड्राइवर ने खुलासा किया है कि कार को उसके मालिक के एक रिश्तेदार ने गुजरात से 5,000 रुपये में बुक किया था. माना गया है कि कातिल इसी कार से लखीमपुर से शाहजहांपुर गए, जहां सोमवार को एक सीसीटीवी कैमरे में उन्हें बस स्टेशन की तरफ पैदल जाते हुए देखा गया था।
लखनऊ में बीते 18 अक्टूबर को कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या कर दी गयी थी, हत्यारों ने कमलेश को गोलियां भी मारी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.