कोरोना को लेकर केजीएमयू, बीबीएयू, एकेटीयू जैसे संस्थान भी एलर्ट, कर रहे जागरूक

लखनऊ। कोरोना वायरस को लेकर जहां एक ओर प्रदेश सरकार सतर्क हो गयी है, वहीं दूसरी ओर शिक्षण संस्थानों में इसको लेकर जागरूक किया जा रहा है। शुक्रवार को बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय में एनसीसी की ओर से 20 यूपी गल्र्स बटालियन की ओर से एनसीसी कैडेट्स को यूनिफाॅर्म वितरित की गयी। इस दौरान कोरोना वायरस को लेकर जागरूक भी किया गया। इसके साथ ही कैडेट्स को बढ़ते कोरोना वायरस के खतरे के बारे में भी बताया गया और इससे बचने के तरीकों से भी अवगत कराया गया ।
एकेटीयू में कुलाचिव ने किया जागरूक
डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विवि में कोरोना वायरस जागरूकता एवं बचाव पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया इस अवसर पर विवि के कुलसचिव नन्द लाल सिंह ने कोरोना वाइरस से बचाव के सम्बन्ध में विवि के कर्मचारियों को जानकारी प्रदान की गयी। संगोष्ठी में एसआईएस से पधारे ट्रेनिंग ऑफिसर राहुल पठानिया ने कोरोना से बचाव के उपायों के बारे में जानकारी प्रदान की ।उन्होंने बताया कि किसी से भी हाथ न मिलाएं ।
केजीएमयू में डाॅक्टरों और कर्मचारियों को किया जागरूक
किंग जाॅर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में माइक्रोबायोलाॅजी विभाग की विभागाध्यक्ष प्रो.अमिता जैन के नेतृत्व में चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक किए जाने हेतु कार्यक्रम का आयोजन कलाम सेंटर में किया। इस अवसर पर विभाग की सह-आचार्य डाॅ.पारूल जैन ने करोना वायरस को परिभाषित करते हुए बताया कि किस प्रकार से के संदिग्ध मरीजों की पहचान कर उनका उपचार करें। इसके साथ ही उन्होंने वीआरडीएल, केजीएमयू में उपलब्ध सुविधाओं के बारे में भी बताया जो कि उत्तर प्रदेश उत्तराखंड राज्यों के लिए एक नोडल स्क्रीनिंग और प्रमाणित जांच केंद्र है। उक्त कार्यक्रम में संयुक्त निदेशक, कम्युनिकेबल और वेक्टर बोर्न डीजिज, उत्तर प्रदेश, डाॅ.विकासेन्दू अग्रवाल ने इस बीमारी के निदान एवं उपचार पर विचार-विमर्श करने के साथ ही रैपिड रिस्पांस टीमों के बारे में जानकारी दी कि किस प्रकार से राज्य के सभी जिलोें में इस बीमारी के संदिग्ध लोगों के बारे में पता लगा कर उनसे संपर्क किया जाए। कार्यक्रम में कमांड अस्पताल, इलकारी बाई, राम मनोहर लोहिया चिकित्सा संस्थान, संजय गांधी स्नातकोत्तर आर्यविज्ञान संस्थान, लखनऊ, एरा मेडिकल काॅलेज, मेदंाता अस्पताल, लखनऊ और केजीएमयू के चिकित्सकों ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 1 =