भारत ने जीता दिन-रात्रि का पहला मुकाबला,बांग्लादेश को एक पारी और 46 रनों से हराया

photo google
कोलकाता। भारतीय टीम ने गुलाबी गेंद से यहां हुए दिन-रात्रि के पहले मुकाबले में मेहमान टीम बांग्लादेश को एक पारी और 46 रन से हराकर 2-0 से सीरीज जीत ली है। दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की टीम 195 रनों पर ही आउट हो गई। इस प्रकार भारतीय टीम ने तीसरे ही दिन मैच जीतकर एक बार फिर अपनी श्रेष्ठता साबित की है। भारत ने इस प्रकार टेस्ट चैंपियनशिप में अपना अजेय रेकॉर्ड बरकारार रखा है। उमेश यादव ने इस पारी में 53 रन देकर 5 विकेट अपने नाम किए, जबकि पहली पारी में 5 विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने दूसरी पारी में भी 4 विकेट अपने नाम किए। इस टेस्ट मैच में स्पिन गेंदबाजों को एक भी विकेट नहीं मिला। मैच में कुल नौ विकेट लेने वाले इशांत को उनके शानदार खेल के लिए मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज का खिताब मिला।
इस जीत के साथ ही भारत ने बड़ा रिकार्ड अपने नाम कर लिया है। भारतीय टीम विश्व की पहली ऐसी क्रिकेट टीम बन गई है जिन्होंने लगातार चार टेस्ट मैचों में पारी के अंतर से जीत हासिल की है।
इससे पहले दुनिया की कोई भी टीम ऐसा नहीं कर पाई थी। भारत ने बांग्लादेश को दोनों टेस्ट में पारी और रनों से अंतर से शिकस्त दी थी और इससे पहले यहां आई दक्षिण अफ्रीकी टीम को भी रांची और पुणे टेस्ट में पारी और रनों के अंतर से हराया था।
बांग्लादेश की ओर से इस टेस्ट मैच में केवल अनुभवी बल्लेबाज मुश्फिकुर रहीम ही कुछ हद तक भारतीय गेंदबाजों का सामना कर पाये। मुश्फिकुर ने 74 रन बनाये पर कोई अन्य बल्लेबाज उनका साथ नहीं दे पाया। मुश्फिकुर ने महमुदुल्लाह के साथ एक छोटी सी साझेदारी कर अपनी टीम की कुछ उम्मीदें जरूर जगाई थीं पर 39 के निजी स्कोर पर महमुदुल्लाह की मांसपेशियों में खिंचाव आ गया और वह दोबारा बल्लेबाजी के लिए नहीं उतर पाए।
41.1 वें ओवर में अल अमीन के 21 रन बनाकर आउट होने के साथ ही भारत ने यह मैच जीत लिया।
मुश्फिकुर ने अपनी टीम को पारी की हार से बचाने का पूरा प्रयास किया। उन्होंन 8वें विकेट के लिए अल अमीन 12 के साथ मिलकर अपनी साझेदारी को 30 पार पहुंचा दिया है। दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक अपनी दूसरी पारी में 6 विकेट खोकर 152 रन बनाए। बांग्लादेश ने पहली पारी में 106 रन ही बनाये। वहीं भारत ने 347 पर घोषित की पारी घोषित की थी। इस प्रकार भारत के पास पहली पारी के आधार पर 241 रनों की अच्छी खासी बढ़त थी।
पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले इशांत शर्मा ने जहां से खत्म किया था दूसरी पारी में वहीं से शुरुआत की। उन्होंने पांचवीं ही गेंद पर शादमान इस्लाम को बिना खाता खोले पविलियन लौटा दिया और अपने दूसरे तथा पारी के तीसरे ओवर में कप्तान मोमिनुल हक को भी खाता नहीं खोलने दिया। उमेश यादव ने 9 के कुल स्कोर पर मोहम्मद मिथुन को पविलियन लौटा मेहमान टीम को तीसरा झटका दिया। दूसरे छोर पर खड़े सलामी बल्लेबाज इमरूल कायेस पांच रनों के निजी स्कोर पर किसी तरह पहुंचे थे लेकिन इशांत ने यह तय किया कि वह इससे आगे नहीं जा पाएं। (एजेंसी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × five =