समय रहते पॉलीथीन का प्रयोग बंद न हुआ तो भुगतने होंगे भयानक परिणाम-इग्नू

लखनऊ। पॉलिथीन पर्यावरण को भारी चोट पहुंचा रही है। यदि इस पर समय रहते हमने इसका इस्तेमाल बंद नही किया तो भयानक परिणाम झेलने पडेंगे। पॉलिथीन के प्रयोग से सांस, त्वचा, संबंधी, कैंसर जैसे भयानक रोग तेजी से बढ़ रहे हैं। क्योंकि यह नष्ट नहीं होता इसलिए यह भूमि की उर्वरा शक्ति को खत्म कर देती है। ये बात इग्नू क्षेत्रीय केन्द्र लखनऊ में चल रहे स्वच्छता पखवाड़े के दौरान इग्नू के सहायक क्षेत्रिय निदेशक डा. कीर्ति विक्रम सिंह ने कही। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को दूषित होने से बचाने के लिए हमें कपड़ा, जूट, कैनवास, नायलान, और कागज के बैग का इस्तेमाल अधिक से अधिक करना चाहिए। इस अवसर पर श्री रामकृपाल शुक्ल, प्राचार्य दीन दयाल शोध संस्थान मुख्य अतिथि के रूप मे उपस्थित रहे और विद्यार्थियों को प्रेरित करते हुए उन्हे पर्यावरण संरक्षण के विषय मे जागरूक किया। और विद्यार्थियां से कहा वे अपने परिसर को स्वच्छ बनाने का प्रयास करे और स्वच्छता की भावना अन्य व्यक्तियों मे भी जाग्रत करे। क्षेत्रीय निदेशक डॉ. मनोरमा सिंह ने बताया की हमे अपने आस-पास के क्षेत्र में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए क्योंकि अगर हमारे आस-पास साफ सफाई नहीं होगी तो अनेक तरह की बीमारियां हमे घेर लेंगी। उन्होने कहा की पर्यावरण को स्वच्छ बनाने के लिए अधिक से अधिक पेड़ लगाने चाहिए। उन्होंने इग्नू द्वारा पर्यावरण संरक्षण हेतु किये जा रहे प्रयासों की चर्चा की। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्या डॉ. मंजू दीक्षित व लगभग 150 विद्यार्थी उपस्थित रहे। विद्यार्थियों द्वारा एक रैली निकालकर जनमानस को पॉलिथीन के दुष्प्रभावों के बारे मे अवगत कराया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.