भ्रष्टाचार पर हंटर, अब तक 276 पंचायत सदस्य निलंबित

लखनऊ। भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार हो रही कार्रवाई में अब तक 276 पंचायत सदस्यों को निलंबित कर दिया गया है। पंचायतीराज विभाग में अब तक यह सबसे बड़ी कार्रवाई बतायी जा रह है। जो सात माह के अंदर अनियमितता और भ्रष्टाचार के आरोप में 276 पंचायत सचिवों को निलंबित किया गया है। निलंबित किए गए सचिवों से सरकार ने वसूली के भी आदेश दिए हैं। इनके अलावा 71 ग्राम प्रधान भी गड़बड़ी में संलिप्त पाए गए हैं। दोनों से करीब सवा तीन करोड़ रुपये की वसूली होगी। 1अपर मुख्य सचिव पंचायती राज चंचल कुमार तिवारी ने विभाग में की गई अब तक की कार्रवाई का शुक्रवार की शाम ब्यौरा दिया। तिवारी के मुताबिक निलंबित किए गए 276 पंचायत सचिवों की छानबीन में 2०4 गंभीर रूप से दोषी पाए गए हैं। उन्होंने इन सचिवों से एक करोड़ 25 लाख से ज्यादा वसूली के आदेश दिए हैं। आर्थिक अनियमितता के आरोप में 77 मामलों में मुकदमा दर्ज कराया गया है। शासन के निर्देश पर 44 ग्राम प्रधानों के अधिकार सीज कर दिए गए। आठ ग्राम प्रधानों को पदमुक्त किया गया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten + seven =