ओला और बारिश के कहर से जीवन अस्त व्यस्त, फसले नष्ट, सीएम योगी का तत्काल पहुंचाये पीड़ितों को मदद

लखनऊ। राजधानी समेत प्रदेश के कई जिलों में लगातार बारिश और ओले गिरने से किसानों को काफी नुकसान हुआ है। दो दिनों से हो रही बारिश से राजधानी में जहां जीवन अस्त व्यस्त हो गया है वहीं ग्रामीण क्षेत्रों के लिए भी मुसीबत कम नहीं है। तेज हवा के साथ बारिश और ओलावृष्टि का क्रम, फसलों को भारी नुकसान पहुंच रहा है। मौसम विभाग का अनुमान है कि इस बार होली बारिश के साथ ही मनेगी। मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता के मुताबिक सार शनिवार को प्रदेश के उत्तरी अंचलों में बारिश होने के आसार हैं। लखनऊ और आसपास के इलाकों में भी शनिवार को हल्की बारिश हो सकती है। रविवार और सोमवार को मौसम साफ रहेगा। मगर मंगलवार 10 मार्च से फिर बदली-बारिश का सिलसिला शुरू होगा। मौसम विभाग के मुताबिक यह क्रम 12 मार्च तक चलने के आसार हैं। मंगलवार 10 मार्च से तीन दिन तक चलने वाले बदली-बारिश के क्रम में बारिश हल्की होने की उम्मीद है। उधर, शुक्रवार को भी प्रदेश के विभिन्न अंचलों में बारिश का सिलसिला जारी रहा। कहीं-कहीं ओलावृष्टि भी हुई। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार की शाम साढ़े पांच बजे से शुक्रवार को सुबह साढ़े आठ बजे के दरम्यान प्रदेश में सबसे अधिक 8 सेमी बारिश इग्लास में हुई। अलीगढ़ में 4, अतरौली, बदायूं, कासगंज, बिजनौर व धामपुर में 3-3, सिरौली गौसपुर, फतेहपुर, इटावा, बरेली, पूरनपुर व छाता में 2-2, खलीलाबाद, हरदोई, शाहाबाद, सुल्तानपुर, तरबगंज, पुवायां में 1-1 सेमी बारिश रिकार्ड की गई। प्रदेश में तेज हवा, बारिश और ओलावृष्टि किसानों की फसलों को काफी नुकसान पहुंच रहा है। तेज हवा के कारण गेहूं की तैयार होती फसल खेतों में बिछी जा रही है। इसके अलावा अरहर, चना, मटर, सरसों आदि की पकने को तैयार फसलों को भी काफी नुकसान पहुंच रहा है।
आंधी तूफान से एक युवक की मौत
बारिश और आंधी तूफान के बीच सुल्तान पुर में एक युवक की मौत भी हो गयी। बल्दीराय तहसील के नरसडा ग्रामसभा के सुरेंद्र कुमार (35 वर्ष) रसूलपुर बाजार गया था। मौसम खराब होने के बाद वह घर जाने के लिए वापस हुआ।आदमपुर ग्रामसभा के पास तेज, हवा, बारिश व ओलावृष्टि में फंस जाने के कारण वह भाग नहीं सका। उसकी चपेट में आने से उसकी मौत हो गई।
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिए तत्काल राहत पहुंचाने के आदेश
बेमौसम हुई बारिश से प्रदेश में पूर्वांचल से लेकर पश्चिमी जिलों तक खेतों में गिरी पड़ी फसल देखकर किसान बेहाल हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों को तत्काल राहत पहुंचाने का आदेश देकर उनका हौसला बढ़ाया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के कई हिस्सों में तेज बारिश व ओलावृष्टि हुई है। प्रभावितों को तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश दिए गए हैं। किसान भाई-बहन आश्वस्त रहें, खेत में खड़ी फसलों को हुए नुकसान के अविलंब आकलन के लिए जिलाधिकारियों को आदेश दे दिया गया है। आप सभी अपना ध्यान रखें। प्रदेश के कई हिस्सों में तेज बारिश व ओलावृष्टि हुई है,प्रभावितों को तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश दिए गए हैं।
अवध के कई हिस्सों में 15 फीसद फसलों को नुकसान
लखनऊ समेत अवध की कई क्षेत्रों के 15 फीसदी फसलों को नुकसान बताया जा रहा है। लखनऊ मंडल के कृषि उप निदेशक डॉ.सीपी श्रीवास्तव की माने तो 15 फीसदी फसलों को नुकसान हुआ है। लेकिन क्षेत्रों में देखे तो असल तस्वीरे कुछ और ही कह रही हैं।
लखनऊ के क्षेत्रों इतने प्रतिशत फसल चैपट होने का दावा
1385 हेक्टेयर में सरसो, आलू और गेहूं की फसल थी, जिसमें से 480 हेक्टेयर नष्ट हो गई। माल, मलिहाबाद और काकोरी में करीब 10 फीसद नुकसान हुआ है, जबकि सरोजनीनगर और बख्शी का तालाब में आंशिक नुकसान सामने आया है। सीतापुर में नुकसान का प्रतिशत 30 के पार है। सुलतानपुर, रायबरेली व हरदोई में भी 10 से 14 फीसद के बीच नुकसान हुआ है। हालांकि अभी अंतिम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

अभी अनुमानित नुकसान का आकड़ा जारी किया गया है। जहां-जहां बारिश और ओलावृष्टि हुई है उसमें अधिकारी मौके पर पहुंचकर निरीक्षण भी करेंगे।
ओपी मिश्रा जिला कृषि अधिकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 + 3 =