पाकिस्तान के इस कदम से चीन के निवेश पर खतरा, पाक ने पीछे किए कदम

न्यूज डेस्क। पाकिस्तान में ग्वादर बंदरगाह को चहारदीवारी से घेरने की योजना पर बलूचिस्तान सरकार ने कार्य फिलहाल रोक दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस योजना का स्थानीय लोग विरोध कर रहे थे। पाकिस्तानी सेना, मकरान प्रशासन, ग्वादर पोर्ट अथॉरिटी और बलूचिस्तान सरकार ने मिलकर बंदरगाह के तीन ओर 24 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र की दीवार बनाने की योजना बनाई थी। यह दीवार चीन-पाकिस्तान इकोनोमिक कॉरीडोर (सीपीईसी) के अंतर्गत जारी परियोजना की सुरक्षा को बेहतर करने के लिए बनाई जानी थी। ग्वादर बंदरगाह का संचालन का जिम्मा चीन को सौंपा जा चुका है। सीपीईसी के तहत चीन से जुड़ा यह बंदरगाह मध्य एशिया और यूरोप के देशों को माल भेज रहा है। बलोच अलगाववादियों के आंदोलन चलते सीपीईसी पर शुरू से खतरा मंडरा रहा है। बलूचिस्तान के गृह मंत्री जिया लांगो ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ग्वादर बंदरगाह के इर्द-गिर्द दीवार बनाने के कार्य को रोके जाने का एलान किया।