लॉकडाउन समाप्ति के बाद ​​ग्रेजुएट व अंडरग्रेजुएट की शुरू होंगी परीक्षाएं, छात्रों को मिली बड़ी राहत

google image

लखनऊ। यूपी में लॉकडाउन की समाप्ति के बाद से विश्विविद्यालयों व महाविद्यालयों की ग्रेजुएट व अंडर ग्रेजुएट छात्र—छात्राओ की परीक्षाएं शुरू हो जायेंगी। इस संबंध में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने शुक्रवार को उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियो के साथ बड़ी बैठक आयोजित की। बैठक के दौरान लॉकडाउन के चलते उ​च्च शिक्षण संस्थानों में पिछड़े हुए कार्यों की समीक्षा भी की। समीक्षा के बाद छात्रों को बड़ी राहत देने की तैयारी की गयी है। परीक्षाओं में प्रश्नपत्रों की संख्या घटाने पर विचार किया गया है साथ ही 6 की जगह 4 सवालों को पूछा जायेगा। इसके साथ ही प्रश्नपत्र हल करने का समय भी दो घंटे कर दिया गया हैं। वहीं लॉकडाउन की अविध समाप्त होने के बाद विश्वविद्यालयों में परीक्षाएं कैसे करानी हैं ये कुलपति अपने हिसाब से​ ​निर्णय ले सकेंगे। लेकिन इससे पहले सभी तैयारियां भी पूरी करनी होंगी। विश्वविद्यालय परीक्षाएं जल्दी करवाने के लिए य​दि परीक्षा केन्द्रों की बढ़ोत्तरी करना चाहते हैं, संख्या बढ़ा सकते हैं। दरअसल सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना होगा इसके लिए परीक्षा केन्द्रों की संख्या कम पड़ सकती है। डॉ शर्मा ने कहा लॉकडाउन की अविध समाप्त होने के बाद भी कोरोना संक्रमण से बचाव के​ लिए शिक्षण संस्थानों में सजगता जरूरी है। ताकि कोई समस्या न होने पाये।

जून में मूल्यांकन और जुलाई के पहले सप्ताह में परिणाम

डॉ शर्मा ने कहा कि परीक्षाएं होने के बाद जून के अंत तक उत्तर पुस्त्किाओं का मूल्यांकन करवा लिया जाये और जुलाई के पहले सप्ताह में परिणाम जारी कर दिया जाये। इससे नया सत्र भी प्रभावित नहीं होने पायेगा। डॉ शर्मा कहा कि मूल्यांकन कार्य के लिए विश्वविद्यालय के कुलपति यदि चाहे तो मूल्यांकन केंद्रों का विकेंद्रीकरण भी कर सकते हैं, विश्वविद्यालय की ओर से यह भी निर्धारित किया जा सकता है कि एक दिन में कितनी उत्तर पुस्तिकाएं जांची जाएं। लेकिन यह व्यवस्था केवल इस वर्ष के लिए ही होगी।

जो परीक्षाएं हो चुकी उन विषयों की कॉपियों का शुरू होगा मूल्यांकन

डॉ शर्मा ने विश्वविद्यालयों को निर्देश दिया कि उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन कार्य को तेजी निपटाया जाए। उन्होंने कहा कि आगामी परीक्षाओं के साथ ही साथ मूल्यांकन का कार्य भी कराया जाए, जिन विषयों एवं प्रश्न पत्रों की परीक्षाएं संपन्न हो चुकी हैं उनके उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए शुरू किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − 6 =