लखनऊ में डेंगू का डंक: फिर मिले दो दर्जन से अधिक नये मामले, 200 सैंपल एलाइजा रिपोर्ट की इंतजार में

लखनऊ। राजधानी डेंगू की रोकथाम के लिए प्रभावी कदम न उठाये जाने से लगातार मरीजों की संख्या बढ़ रही है। वहीं बलरामपुर अस्पताल में मरीजों को आसानी से बेड नहीं मिल पा रहे हैं। इसके साथ ही तेज बुखार वाले मरीजों की संख्या पिछले सप्ताह की अपेक्षा 50 मरीजों की संख्या अधिक हो गयी है। अस्पताल के प्रवक्ता डॉ एसएम त्रिपाठी ने बताया कि​ बुखार वाले मरीजों की संख्या बढ़ी, इस दौरान मरीजों की जांच के बाद मरीज को यदि घर पर इलाज संभव है तो दवाएं दी जा रही हैं, यदि भर्ती की जरूरत पड़ रही है तो भर्ती की जा रही है। बता दें कि राजधानी के अधिकांश क्षेत्र से डेंगू मरीज निकल आ रहे हैं, इसमें फैजुल्लगंज वार्ड को हार्टस्पाट घोषित किया गया है। इसमें ऐशबाग, काकोरी, आलमबाग, रेडक्रास, अलीगंज, इन्दिरानगर, एनके रोड, सरोजनीनगर क्षेत्र में भी डेंगू मरीज पाये गये हैं। बुधवार को सीएमओ डॉ मनोज अग्रवाल ने बताया कि शहर के अलग—अलग क्षेत्र में 28 नये डेंगू के मरीज मिले हैं, इसके अलावा 200 से अधिक नमूने जांच के लिए भेजे गये हैं, इनकी एलाइजा रिपोर्ट का इंतजार है। उन्होंने ये भी कहा कि तेज बुखार का मतलब डेंगू नहीं हो सकता है, इसलिए डरने की जरूरत नहीं बल्कि सजग रहने की जरूरत है।

35 लोगों को जारी हुआ नोटिस
स्वास्थ्य विभाग जिला मलेरिया अधिकारी टीम ने बुधवार को अम्बेडकर नगर, इन्दिरानगर, शारदानगर, खरिका, राजाजीपुरम, हुसैनाबाद, फैजुल्लागंज, त्रिवेणीनगर वार्ड के आस-पास के क्षेत्रों का निरीक्षण किया गया। इस दौरान 2651 घरों के आस—पास निरीक्षण किया गया। इसमें 35 लोगों को नोटिस देकर चेतावनी दी गयी, कि घर पास गंदगी न फैलाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × two =