पांच अरब डाॅलर तक भारत का पहुंचेगा रक्षा निर्यात, डिफेंस एक्सपो में साइन हुए 200 एमओयू-रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

-डिफेंस एक्सपो में साइन हुए 200 एमओयू
-तकनीकी फार्मूलों को लेकर भी समझौते, अमेरिका भी कई फार्मूले करेगा भारत के साथ साझा
लखनऊ। हमारी नीतियां अब परिणाम देने लगी हैं, पहले लोग कहते थे कि भारत की रक्षा नीतियां सामने नहीं आ रही हैं, लेकिन अब सबकुछ सामने है, और भारत का रक्षा निर्यात 2024 तक पांच अरब डाॅलर तक पहुंचेगा। ये बात रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कही। रक्षा मंत्री शुक्रवार को डिफेंस एक्सपो के मौके पर अयोजित बधंन कार्यक्रम में अभी तक साइन हुए एमओयू के बारे में विस्तार से जानकारी दे रहे थे। उन्होंने कहा कि लखनऊ में आयोजित इस एशिया के सबसे बड़ा हथियारों के मेले में कुल 210 एमओयू साइन हुए हैं। रक्षा मंत्री ने कहा ये एमओयू हमारे रक्षा औद्योगिक आधार को मजबूत करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने रक्षा क्षेत्र की कई नीतियों में सुधार करते हुए नीतियों का सरलीकरण भी किया है। उन्होंने कहा क भारत का रक्षा निर्यात वर्ष 2018-19 में 10745 करोड़ रूपए तक पहुंच गया है, जो 2016-17 में हुए निर्यात के सात गुना अधिक है। वहीं अमेरिका के साथ फार्मूलों को लेकर भी करार हुआ है जो हथियार बनाने में काफी सहायक होंगे।
80 हजार करोड़ रूपए तक पहुंचा उत्पाद
राजनाथ सिंह कहा कि भारतीय रक्षा क्षेत्र में जो कंपनियां काम कर रही है, उनका उत्पादन 80 हजार करोड़ तक बढ़ा है, आने वाले दिनों इसमें और बढ़ोत्तरी होगी। उन्होंने कहा कि इसमें निजी क्षेत्र का करीब 60 हजार करोड़ रूपए का योगदान है। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र की अहमियत भी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आज आयुध फैक्ट्री बोर्ड की उत्पादन गतिविधियों का लगभग 40 प्रतिशत आउटसोर्स हो रहा है।
एक्सपो के तीसरे दिन 71 एमओयू के साथ 13 प्रोडक्ट लांच
डिफेंस एक्सपो के तीसरे दिन 72 एमओयू साइन हुए जबकि 13 प्रोडक्ट भी लांच किए गये। जबकि छह बड़ी घोषणाएं भी की गयी। इस दौरान 18 नये तकनीक अंतरण समझौतों पर मोहर लगी। तीसरे दिन कुल मिलाकर 100 से ज्यादा करार हुए हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि जो भी पक्ष एमओयू में शामिल हैं, वे बंधन के विश्वास को किसी भी सूरत में टूटने नहीं देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 4 =