पूरे विश्व की अपेक्षा भारत में सबसे कम कीमत पर उपलब्ध होगी कोरोना वैक्सीन, जानिए क्या है रेट

न्यूज डेस्क। कोरोना मुक्त भारत हो सके इसके लिए जल्द ही वैक्सीनेशन का काम शुरू होने जा रहा है। लेकिन इसकी कीमत को लेकर अलग-अलग देशों में अलग-अलग रेट तय किए गये हैं, इसी बीच भारत की जो वैक्सीन है वह पूरे विश्व से भी सस्ती है। बता दें कि  देश में कोरोना वायरस की वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन को मंजूरी दी गई है। दोनों ही वैक्सीन को भारत में तैयार किया गया है, वहीं ये दोनों वैक्सीन दुनिया में बनी अन्य कोरोना वैक्सीन की तुलना में काफी सस्ती है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से कोविशील्ड की 1.1 करोड़ खुराक के अलावा भारत बायोटेक से कोवैक्सीन की 55 लाख खुराक खरीदी जा रही है. उन्होंने कहा कि भारत बायोटेक से कोवैक्सीन की 55 लाख खुराक खरीदी जा रही है. कोवैक्सीन की 38.5 लाख खुराक में से प्रत्येक पर 295 रुपये (टैक्स लगाकर) की लागत आएगी. वहीं भारत बायोटेक 16.5 लाख खुराक फ्री मुहैया करा रही है, जिससे इसकी लागत प्रत्येक खुराक पर 206 रुपये आएगी। वहीं भारत सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से 200 रुपये प्रति डोज खरीदी है. इस वैक्सीन की 200 रुपये कीमत में टैक्स शामिल नहीं है. कोवीशील्ड की कीमत भारत में 210 रुपये (टैक्स लगाकर) है।

अलग-अलग देशों में अलग-अलग रेट तय

– फाइजर-बायोएनटेक के टीके की लागत प्रति खुराक 1431 रुपये
-मॉडर्ना के टीके की खुराक की कीमत 2348 रुपये से लेकर 2715 रुपये
-नोवावैक्स के टीके की कीमत 1114 रुपये,
-स्पूतनिक-वी के टीके का दाम 734 रुपये
– जॉनसन एंड जॉनसन के जरिए निर्मित टीके की कीमत 734 रुपये है
– चीन की साइनोफोर्म वैक्सीन की कीमत 5650 रुपये से अधिक

16 जनवरी से शुरू होगा टीकाकरण
केंद्र सरकार ने बताया कि मंगलवार दोपहर तक निर्धारित राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय भंडारण केंद्र तक कोविड-19 टीके की 54.72 लाख खुराक पहुंचा दी गई है और 14 जनवरी तक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से 1.1 करोड़ और भारत बायोटेक से 55 लाख खुराक मिल जाएगी।