यूपी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 410, सील हॉटस्पॉट क्षेत्रों में सिर्फ जा सकेंगे ये लोग

-कोरोना के संक्रमण से बचाव हेतु सभी लोगों के लिए मास्क या फेस कवर का प्रयोग अनिवार्य

न्यूज डेस्क। अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने आज लोक भवन स्थित मीडिया सेंटर में मीडिया प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री की ओर से निर्देश दिया गया है कि प्रदेश के 15 जनपदों के सील किये गये सभी कोरोना प्रभावित हॉट स्पॉट क्षेत्रों में मेडिकल, सेनेटाइजेशन एवं डोर स्टेप डिलीवरी टीमों के अतिरिक्त किसी अन्य को आवागमन की अनुमति न दी जाये। उन्होंने बताया कि समस्त जनपदों के पुलिस एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों को इस सम्बंध में स्पष्ट आदेश दे दिये गये हैं। हॉट स्पॉट क्षेत्रों को सेक्टर वाइज विभाजित कर प्रत्येक क्षेत्र में मजिस्ट्रेट तैनाती किये जाये। सील किये गये क्षेत्रों में सर्विलांस गतिविधि को बढ़ाये जाने के भी निर्देश दिए गये हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि चिकित्सा विभाग द्वारा जारी निर्देशों का पालन करें एवं अपने चेहरे को मास्क, रूमाल, गमछा या दुपट्टे से अनिवार्य रूप से ढंके। उन्होंने कहा कि इस बीमारी से निजात पाने एवं लॉक डाउन को शीघ्र खोले जाने के लिए आवश्यक है कि लोग घरों से न निकलें और लॉक डाउन का पूर्णतया पालन करें।
तब्लीगी जमात वालों के अब स्वयं सामने आना होगा
उन्होंने बताया कि तब्लीगी जमात में सम्मिलित लोग स्वयं आगे आएं। जिनके घरों में ऐसे लोग रूके हों वे प्रशासन को सूचित करें ताकि जमात में शामिल लोग क्वारेंटाइन किये जा सकें। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा तैयार किये गये ‘‘आरोग्य सेतु’’ मोबाइल ऐप डाउनलोड कर इसका सहयोग लेते हुए स्वयं की मॉनीटरिंग की जा सकती है। उन्होंने कहा कि क्वारेंटाइन सेंटर की बराबर समीक्षा करने के निर्देश दिये गये हैं।
सरकार ने की सख्त कार्रवाई, 12,236 पर मुकदमा दर्ज
श्री अवस्थी ने बताया कि कोरोना वायरस के दृष्टिगत प्रदेश में लॉक डाउन अवधि में पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में अब तक धारा 188 के तहत 12,236 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। अब तक कुल 31,216 लोग गिरफ्तार किये गये। प्रदेश में अब तक 13,35,147 वाहनांे की सघन चेकिंग में 19,579 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 5,61,52,729 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 1,56,728 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 399 लोगों के खिलाफ 311 एफआईआर दर्ज करते हुए 137 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
फेक न्यूज को लेकर 78 मामलों में कार्रवाई
श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश सरकार फेक न्यूज पर कड़ाई से नजर रख रही है। फेक न्यूज के तहत अब तक 78 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गई है।
गरीबों को दिया जा रहा राशन
श्री अवस्थी ने बताया कि खाद्यान्न वितरण योजना के तहत निःशुल्क श्रेणी के अन्तर्गत 1,26,79,168 राशन कार्डों के सापेक्ष (अन्त्योदय की संख्या सहित) के सापेक्ष 95,55,048 कार्डों पर खाद्यान्न वितरित किया गया है। इसके अतिरिक्त प्रदेश में प्रचलित कुल 3,50,75,590 राशन कार्डों के सापेक्ष 2,69,19,447 कार्डों पर खाद्यान्न का वितरण किया गया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में डोर-स्टेप-डिलीवरी व्यवस्था के अन्तर्गत 21,053 स्टोर क्रियाशील हैं, जिनके माध्यम से 48,526 डिलीवरी मैन आवश्यक सामग्री निरंतर पहुंचा रहे हैं। प्रदेशवासियों को फल एवं सब्जी उपलब्ध कराये जाने के लिए कुल 42,393 वाहनों की व्यवस्था की गयी है। इसी क्रम में कुल 48.24 लाख लीटर दूध उपार्जन के सापेक्ष 33.34 लाख लीटर दूध का वितरण 18,568 डिलीवरी वैन के माध्यम से किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × one =