तीन तलाक पर बोले सीएम योगी, सदियों से चली आ रही कुप्रथा को समाप्त करने में प्रधानमंत्री का बड़ा योगदान

न्यूज डेस्क। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को तीन तलाक पर बोलते हुए कहा कि सदियों तीन तलाक की कुप्रथा से महिलाओं को मुक्ति मिली है। उन्होंने कहा कि तोडऩा बहुत आसान होता है, जोडऩा बहुत कठिन है। उन्होंने कहा कि तीन तलाक का दंश झेल रही महिलाओं की समस्याओं का केन्द्र सरकार ने बड़ा समाधान किया है। उन्होंने कहा कि मैं आदरणीय प्रधानमंत्री जी का आभार व्यक्त करता हूं, जिन्होंने सदियों से चली आ रही इस कुप्रथा को समाप्त करने के लिए कानून बनाया। सीएम योगी इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित तीन तलाक से प्रभावित महिलाओं से संवाद कार्यक्रम व प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास के दौरान उपस्थित थे।
सभी को सम्मान से जीने का अधिकार-सीएम योगी
इस मौैके पर सीएम योगी ने कहा कि सभी को सम्मान के साथ जीने का अधिकार है, यह निर्माण की लड़ाई है, इसे आगे बढ़ाने के लिए ही हम सभी यहां उपस्थित हुए हैं। गाड़ी का एक पहिया पुरुष है तो दूसरी महिला। इसलिए पुरुष के विकास के साथ-साथ महिलाओं का विकास भी बेहद जरूरी है। समाज का कोई हिस्सा या कोई भी व्यक्ति खुद को उपेक्षित व अपमानित महसूस न करे, इसके लिए ठोस कार्य योजना तैयार की जाए। आजादी के तत्काल बाद ही इस लड़ाई को लडऩा चाहिए था, लेकिन निजी स्वार्थ हेतु पिछली सरकारों ने ऐसा नहीं किया। यूपी में पिछले एक साल में 273 मामले आए थे। हमने सभी में एफआइआर करवाई। मैंने यहां प्रमुख सचिव, गृह को इसीलिए बुलाया है कि वह इन सभी मामलों की खुद समीक्षा करें और जिन पुलिस कर्मियों ने लापरवाही बरती है, उन पर भी कार्रवाई हो।
पीडि़त महिलाओं ने प्रधानमंत्री को दिया धन्यवाद
इस मौके पर तीन तलाक से पीडि़त महिलाओं ने कहा प्रधानमंत्री जी और मुख्यमंत्री जी ने हमारा दर्द समझा और उसे बांटा। हमें हमारा हक दिलाने व जिंदगी के लिए नया हौसला देने के लिए हम सभी केंद्र व राज्य सरकार के आभारी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 − 7 =