लखनऊ में बड़े स्तर पर चल रहा पॉलीथीन के खिलाफ अभियान, व्याापिरयों से वसूला जा रहा जुर्माना

लखनऊ। पॉलीथीन के खिलाफ राजधानी में तेजी से अभियान चलाया जा रहा है। नगर निगम पॉलीथीन रखने वाले दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई में जुटा हुआ है। वहीं भारी जुर्माना चुकाने के बाद भी दुकानदार सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस बारे में जानकारी देते हुए नगर आयुक्त इंन्द्रमणि त्रिपाठी ने बताया कि पॉलीथीन के खिलाफ अभियान नियमित चलता रहेगा, रोजाना की तरह से शुक्रवार को इस तरह से कार्रवाई की गयी।
जोन टू में 18 कुंतल पॉलीथीन जब्त, 30 हजार जुर्माना
जोनल अधिकारी जोन-2 संगीता कुमारी के नेतृत्व में प्रतिबंधित प्लास्टिक के विरुद्ध अभियान चलाया गया। अभियान में सुभाष मार्ग स्थित सरन ट्रांसपोर्ट के प्रतिष्ठान से कुल 1750 किलो प्रतिबंधित पालीथीन जब्त की गयी तथा रु. 30,000 जुर्माना वसूला गया। वहीं राजाजीपुरम में कर अधीक्षक आब्दी के नेतृत्व में राजाजीपुरम क्षेत्र में अतिक्रमण अभियान चलाया गया जिसमें 9000 रु. जुर्माना वसूला गया।
जोन 6 में 44 किलो पॉलीथीन और पांच हजार जुर्माना वसूला
नगर आयुक्त ने बताया कि जोन-6 में अम्बी बिष्ट के नेतृत्व में बालागंज में प्रतिबंधित प्लास्टिक के विरुद्ध अभियान चलाया गया। अभियान में बालागंज चैराहे के पास स्थित बी.के. इंटरप्राइजेज के प्रतिष्ठान पर छापे की कार्यवाही की गयी जिसमें लगभग 44 किलोग्राम पॉलीथीन जब्त की गयी तथा स्पॉट फाइन रु. 5000 वसूला गया। अभियान में वाणिज्य कर विभाग के अधिकारी राजमणि, नगर निगम के कर अधीक्षक, सफाई निरीक्षक, राजस्व निरीक्षक तथा थाना ठाकुरगंज के पुलिस बल के साथ प्रवर्तन दल उपस्थित रहा।
जोन सात में 32 हजार वसूला गया जुर्माना
जोनल अधिकारी, जोन-7 विद्यासागर के नेतृत्व प्रतिबंधित पालीथीन के विरुद्ध मुंशीपुलिया चैराहा व कलेवा चैराहा के आसपास चलाये गये अभियान में 8.5 किग्रा पॉलीथीन जब्त की गयी तथा रु. 32,000 जुर्माना वसूला गया। अभियान में सफाई निरीक्षक तथा प्रवर्तन दस्ते के सदस्य उपस्थित रहे।
सभी दुकानदारों को पॉलीथीन के प्रति जागरूक किया गया है, पॉलीथीन से होने वाले नुकसान के बारे में भी बताया गया बावजूद उसके जो दुकानदान नहीं सुधर रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी।
इंन्द्रमणि त्रिपाठी नगर आयुक्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.