बजट 2०18-किसानों को राहत और 1० करोड़ परिवारों को मेडिकल बीमा का लाभ

न्यूज डेस्क नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को बजट पेश करते हुए किसानों को राहत देते हुए दस करोड़ परिवारों को मेडिकल बीमा के लाभ के बारे में भी बताया है। इसके अलावा भी वित्तमंत्री अरुण जेटली ने अपने बजट भाषण में कई योजनाओं का ऐलान किया। जिसमें उन्होंने किसान, गरीब, युवा, गृहणी, उद्यमी सबों को खुश करते नजर आए। किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य के बारे में भी बताया। बजट के ऐसे ही दस बिन्दुओं पर अहम जानकारी आपको इंडिया न्यूज टाइम्स डॉट इन दे रहा है।

किसानों को इस तरह से दी राहत
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अपने बजट में किसानों को राहत देने का पूरा प्रयास किया है। बजट के मुताबिक किसानों को फसल का अच्छा लाभ मिले। इसके लिए फसलों की लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने की घोषणा की है।

मतस्य और पशु पालकों को इस तरह दी राहत
वित्त मंत्री ने मतस्य पालन और पशुपालन करने वालो किसानों के लिए कहा कि ऐसे किसानों को ज्यादा लाभ हो इसके लिए किसान क्रेडिट कार्ड का फायदा पशुपालकों और मतस्य पालकों को भी दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि पशुपालन एवं मत्स्यपालन क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 1०,००० करोड़ रुपये के दो नए कोष बनाने की तैयारी है।

शौचालयो को लेकर ये है तैयारी
बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि 2 करोड़ शौचालय बनाने का लक्ष्य रखा गया है। ऐसे में देश को स्वच्छता की ओर बढ़ाते हुए अगले वित्त वर्ष में दो करोड़ शौचालय बनाए जाएंगे।

नये मेडिकल कॉलेज और अस्पताल खोलने की  तैयारी
नये बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मेडिकल कॉलेज और अस्पताल खोलने के लिए भी घोषणा की है। उन्होंने बताया कि 24 नये सरकारी मेडिकल खोलने की तैयारी है। उन्होंने बताय कि ये देश के अलग-अलग हिस्सो में खोले जायेंगे।

मिलेगा स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ भारत के दस करोड़ को देने का लक्ष्य रखा गया है। इसके तहत गरीब व्यक्ति 5 लाख तक कैश मेडिकल की सुविधा का लाभ ले सकता है।

टीबी मरीजों के लिए 6०० करोड़ का बजट
वित्त मंत्री ने बताय देश भर में टीबी मरीजों को राहत देने के लिए 6०० करोड़ का बजट आवंटित किया गया है। ऐसे में टीबी मरीजों को पोषण मिल सके इसका विश्ोष ध्यान रखा जायेगा।

आठ करोड़ परिवारों को गैस कनेक्शन
बजट पेश करते समय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उज्जवला योजना का भी जिक्र किया। इस योजना के तहत गरीब परिवारों को दिए जाने वाले निशुल्क सिलेंडरों के बारे में भी बताया। उन्होंने बताया कि 8 करोड़ परिवारों को गैस कनेक्शन देने का भी लक्ष्य रखा गया है।

एकलव्य विद्यालय खोलने की तैयारी
बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि अनुसूचित जाति के बच्चों की पढ़ाई के लिए एकलव्य विद्यालय खोले जायेंगे।उन्होंने कहा कि नवोदय विद्यालय की तर्ज पर अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए एकलव्य विद्यालय खोले जाएंगे।

2०22 तक 51 लाख मकान देने की तैयारी
वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार अपने वादे पर कायम है ऐसे में 2०22 तक 51 लाख लोगों को मकान देने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में इस वित्त वर्ष में 51 लाख घर बनाए जा रहे हैं और अगले साल के लिए भी इतने ही घरों का प्रस्ताव है।

मोबाइल फोन पर बढ़ाया सीमा शुल्क
वित्त मंत्री ने बताया कि मोबाइल फोन पर लगने वाला सीमा शुल्क बढ़ाया गया है। ऐसे में मोबाइल फोन पर सीमा शुल्क 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 2० प्रतिशत कर दिया। इसके साथ ही मोबाइल फोन के पुर्जों के आयात पर सीमा शुल्क मौजूदा 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 2० प्रतिशत कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − 8 =