एमपी में नाराज हुए बीजेपी विधायक, कांग्रेस में जाने की तैयारी

न्यूज डेस्क। मध्यप्रदेश में इस समय सियासी पारा सिर चढ़कर बोल रहा है। भाजपा और कांग्रेस दोनो ही पार्टियां आमने सामने हैं, ऐसे में एक दूसरे पर बयानबाजी का दौर भी चल रहा है। एक-तरफ जहां कांग्रेस के भीतर भाजपा कलह बता रही है,तो दूसरी ओर कांग्रेस कहना है कि भाजपा अगर कमलनाथ सरकार को कर्नाटक सरकार जैसी समझ रही है तो यह उसकी भूल है। इसी बीच भाजपा को करारा झटका लगा है।
दरअसल बुधवार को मध्य प्रदेश विधानसभा में आपराधिक कानून (संशोधन) बिल पर मतदान के दौरान दो भाजपा विधायकों, नारायण त्रिपाठी और शरद कौल ने कमलनाथ सरकार के पक्ष में मतदान किए। इसके बाद कांग्रेस ने इसे लेकर भाजपा पर निशाना साधा है। यही नहीं दोनों विधायकों को कांग्रेस ने किसी अज्ञात स्थान पर भेज दिया है और जानकारी अनुसार दोनों रात में सीएम के साथ भोजन करेंगे।भाजापा विधायकों के अपने पक्ष में वोट मिलने के बाद सीएम कमलनाथ ने भाजपा पर चुटकी ली। उन्होंने कहा ‘ भाजपा रोज कहती है कि हमारी सरकार कभी भी गिर सकती है। आज सदन में आपराधिक कानून (संशोधन) बिल पर वोटिंग के दौरान दो भाजपा नेताओं ने हमारे पक्ष में वोट दिया। कमलनाथ सरकार के पक्ष में मतदान करने वाले दोनों भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कौल को आज कांग्रेस द्वारा किसी अज्ञात स्थान पर भेज दिया गया है। वे आज रात में सीएम कमलनाथ के साथ रात्रि भोज में शामिल होंगे।