डिजिटल लॉकर अपनाने से आपको क्या होंगे फायदे, डिप्टी सीएम डा. दिनेश शर्मा ने दी जानकारी

लखनऊ। भारत सरकार की ओर से विकसित डिजिटल लॉकर में अभिलेख पूरी तरह से सुरक्षित होंगे, साथ ही इसकी गोपनियता भी बनी रहेगी। इसलिए अब प्रदेश सरकार ने आम नागरिकों में डिजिटल लॉकर सिस्टम का अधिक से अधिक उपयोग करने के लिए जागरुकता फैलाने का निर्णय लिया है। ये जानकारी प्रदेश के डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने दी है। सोमवार को वह इस बारे में विश्ोष जानकारी दे रहे थे। उन्होंन्ो बताया कि डिजिटल लॉकर को खोलने के लिए मोबाइल नंबर अनिवार्य रहेगा। डिप्टी सीएम ने बताया कि डिजिटल लाकर सिस्टम का उपयोग कर प्रत्येक नागरिक अपने सभी महत्वपूर्ण अभिलेखों यथा मार्कशीट्स, पैनकार्ड, वोटर आई कार्ड, ड्राइविग लाइसेन्स अथवा सरकार द्बारा जारी कोई अन्य पहचान पत्र आदि को डिजिटल फार्म में सुरक्षित रख सकता है।
इंटरव्यू के लिए हार्ड कॉपी साथ ले जाने से बचा जा सकेगा
डिप्टी सीएम ने बताया कि डिजिट लॉकर में अपने सभी दस्तावेज रखने से कभी भी इंटरव्यू के लिए हार्ड कॉपी नहीं साथ नहीं रखना पड़ेगा। उन्होंने काह कि न ही काोई भी दस्तावेज खोने का डर होगा।
ऑनलाइन आवेदन में भी हीोगी आसानी
एक बार डिजिटल लॉकर में सभी डाक्यूमेंट आ जाने से ऑनलाइन आवेदन करने में भी लोगों को आसानी होगी। क्योंकि लॉकर में स्कैन कॉपी होने से आसानी हो जायेगी। हर बार स्कैन करने का झंझट भी नहीं रहेगा।
सरकार हार्ड कॉपी की अनिवार्यता करेगी खत्म
अब किसी भी साक्षात्कार के लिए हार्ड कॉपी साथ नहीं ले जाना पड़ेगा। इसके लिए सरकार भी हार्ड कॉपी की अनिवार्यता को खत्म करेगी। ताकि डिजिटल लॉकर को सबसे ज्यादा बढ़ावा मिल सके। डिप्टी सीएम ने बताया कि इस सिस्टम के उपयोग से डाटा का संचरण (अपलोड) एवं संचालन अत्यधिक सुरक्षित हो जाता है। उन्होंने बताया कि डिजिटल लाकर सिस्टम भारत सरकार के इलेक्ट्रानिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्बारा विकसित किया गया है।
एक जीबी स्पेस की मिलेगी सुविधा
डिजिटल लाकर सिस्टम भारतीय नागरिकों के लिए ०1 (एक) जी०बी० का व्यक्तिगत स्टोरेज स्पेस उपलब्ध कराता है। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव, आईटी एण्ड इलेक्ट्रॉनिक्स द्बारा आदेश जारी कर दिए गये हैं। जारी आदेश के अनुसार डिजिटल लाकर खोलने के लिए मोबाइल नम्बर होना अनिवार्य है। डिजिटल लाकर खोले जाने के उपरान्त नागरिक द्बारा अपना आधार नम्बर अपनी सहमति से लिक किया जा सकता है।

इस तरह से खुलेगा डिजिटल खाता
डिप्टी सीएम ने बताया कि डिजिटल खाता खोलने के लिए सबसे पहले
वेबसाइट (https://digitallocker.gov.in) पर जाकर दिए गये स्थान पर अपने मोबाइल नम्बर दर्ज करना होगा। डिजिटल लाकर पोर्टल द्बारा भेजे गये वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) को सत्यापित करने के उपरान्त डिजिटल लाकर खोल दिया जाएगा। डिजिटल लाकर सिस्टम के माध्यम से कोई भी नागरिक अपना डिजिटल एकाउन्ट सृजित कर अपने प्रारूप, अभिलेखों को डिजिटल फार्म में संरक्षित रख सकता है। नागरिकों के अभिलेख पूर्णतया सुरक्षित एवं गोपनीय रखे जाते हैं, जिसे आवश्यकता पड़ने पर एकाउन्ट होल्डर संबंधित विभाग एवं अधिकारी को उपलब्ध करा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 + 1 =