लखनऊ में हो रहा था सेहत से खिलवाड़, नकली दूध बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ी गयी

लखनऊ। लखनऊ के मोहनलालगंज में एफएसडीए टीम ने पुलिस की मदद से एक नकली दूध बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ी है। इस फैक्ट्री में पहले नकली दूध तैयार कराया जाता था बाद में उसके असली दूध में मिलाकर बेचा जाता था। पुलिस ने फैक्ट्री में कन्नौज से आया एक टैंकर भी पकड़ा है, इस टैंकर में 2० हजार से अधिक लीटर दूध भी बरामद हुआ है। पुलिस और एफएसडीए की टीम ने दूध का सैंपल लेने के बाद उसे छोड़ दिया। इस दूध भरे टैंकर को अमूल दूध की कंपनी ने लिया हालांकि अमूल दूध डेयरी प्लांट के प्रभारी का कहना है कि दूध नकली दूध को पकड़ना बहुत आसान हो किसी भी प्रकार की गड़बड़ी नहीं चल पायेगी दूध अगर नकली होगा तो पकड़ लिया जायेगा।

टैंकरों में भरा जाता था असली की जगह नकली दूध
जांच पड़ताल में पुलिस को पता चला कि इस फैक्ट्री में असली दूध से भरे टैंकर आते थ्ो जिसके बाद यहीं से सारा मिलावट का ख्ोल किया जाता था। शुरूआती जांच में ये भी पता चला कि असली दूध हटा लिया जाता था और आधा असली और आधा नकली दूध मिला दिया जाता था। उसके बाद टैंकर डेयरी प्लांट के लिए चले जाते थ्ो।

यूरिया और कई तरह के पानी को घोल बरामद
पुलिस ने फैक्ट्री से काफी तरह के पानी के घोल बरामद किए गये हैं। इनके रंग भी अलग-अलग हैं। वहीं भारी मात्रा में यूरिया भी बरामद की है। इसके अलावा तीन हजार से अधिक लीटर दूध सिंथ्ोटिक भी मिला है इस दूध की सैंपलिंग करायी गयी है। एफएसडीए ने सैंपल लेने के बाद इसे नष्ट करवा दिया है।

छापे से पहले लीक हुई सूचना
ठैफैक्ट्री में छापेमारी से पहले ही सूचना लीक होने की बात सामने आ रही है। हालांकि इस बारे मेें कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं है। बताया ये भी जा रहा है छापे से पहले फैक्ट्री तक सूचना आ गयी थी यही कारण है सभी लोग फरार हो गये और एक ही आदमी पुलिस के हत्थ्ो चढ़ा है। पुलिस के मुताबिक पकड़े गये युवक का नाम रसूल अहमद है जो कि मेरठ का रहने वाला है।

लंबे समय से चल रहा था ख्ोल
बताया जा रहा है कि दूध में मिलावट का ख्ोल काफी लंबे समय से चल रहा था। ऐसे में लखनऊवासी कितना नकली दूध पी गये होंग्ो इसके लिए जिम्मेदार हुक्मरानों पर कार्रवाई क्या होगी इस विषय में सवाल कौन पूछे ये एक अपने में सवाल है। ख्ौर जहां पर फैक्ट्री चल रही थी। किसी चांद नरूला नामक शख्स का यह मकान है, यह भी पता चला है कि हापुड़ का फरियाद नामक आदमी भी यहां पर आता जाता है जो इस पूरे गोरखधंधे का मास्टरमाइंड है।

लखनऊ में खाने पीने वाली चीजों में मिलावट के लिए ये हैं जिम्मेदार
1-खाद्य सुरक्षा और औषधि प्रशासन विभाग
2-इस विभाग के जिम्मेदार अधिकारी एफएसओ एमपी सिंह
3-लखनऊ पुलिस के साथ जिलाधिकारी भी जिम्मेदार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + 16 =