अक्षय पात्र के किचेन पहुंचे बेसिक शिक्षा मंत्री, बोले बच्चों के भोजन में न हो लापरवाही

-बेसिक शिक्षा मंत्री ने एमडीएम को लेकर अक्षय पात्र का किया औचक निरीक्षण
-खाना बनाने की व्यवस्था और साफ सफाई का जाना हाल
लखनऊ। स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों के भोजन में कोई लापरवाही न हो साथ ही उन्हे पौष्टिïक आहार मुहैया कराये जाये। ये निर्देश बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री डा. सतीश द्विवेदी ने दिए। डा. द्विवेदी सोमवार को राजधानी के सरकारी स्कूलों में एमडीएम के तहत बच्चों को भोजना परोसने वाली संस्था अक्षय पात्र के किचेन का निरीक्षण करने पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान प्राथमिक विद्यालयों के बच्चों को मिड डे मील में ताजा, गरम व पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होने प्रदेश के 11 जनपदों में भी जहां अक्षय पात्र फाउंडेशन द्वारा मध्यान्ह भोजन योजना प्रस्तावित है, उनके संचालन हेतु शीघ्र रसोई की स्थापना व भोजन वितरण सुनिश्चित करने के कड़े निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि किचेन से भोजन निकल कर बच्चों तक समय से पहुंचे ऐसी व्यवस्था की जानी चाहिए। मंत्री ने किचेन में कार्यरत कर्मचारियों से भी बातचीत की। इस दौरान उन्होंने खाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली समाग्री का भी जायजा लिया।
स्कूलों में औचक निरीक्षण कर बच्चों से जाना स्कूल का हाल
डॉ. द्विवेदी ने सरोजनी नगर तहसील अन्तर्गत पूर्व माध्यमिक विद्यालय, अमौसी का भी निरीक्षण किया। उन्होंने बच्चों से संवाद कर शिक्षा, मध्यान्ह भोजन, स्कूल ड्रेस आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने बच्चों से कहा कि मन लगाकर पढ़ें और अच्छे नागरिक बनें। उन्होंने शिक्षकों से भी कहा कि वे बच्चों को ठीक ढंग से पढ़ाएं, ताकि गांव के बच्चे अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सकें और बेहतर शिक्षा प्राप्त कर गांव, प्रदेश व देश का नाम रोशन कर सकें।
गंदगी देख भडक़े मंत्री जी
विद्यालय परिसर में गंदगी देखकर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए सफाई के सख्त निर्देश दिए तथा महापौर से वार्ता कर विद्यालय परिसर में सफाई कराने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि विद्यालय एवं रसोई स्थल पर स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाय। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि विद्यालय की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाएं तथा स्वच्छता में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.