अयोध्या-पूछताछ के बाद छोड़े गये सभी संदिग्ध, करते थे ये काम

एटीएस आईजी असीम अरूण ने इंडिया न्यूज टाइम्स डॉट इन से बात चीत में दी जानकारी
लखनऊ। फैजाबाद अयोध्या में पकड़े गये सभी संदिग्धों को स्थानीय पुलिस और एटीएस ने पूछताछ के बाद छोड़ दिया है। आईजी असीम अरूण ने बताया कि शनिवार को ये सभी अयोध्या के यलो जोन में घुसने का प्रयास किया था। तभी अयोध्या की स्थानीय पुलिस ने इन्हें पकड़ा था। जिसके बाद एटीएस टीम को सूचना मिली थी। टीम के ओर सभी संदिग्धों से कड़ी पूछताछ की गयी पूछताछ में कुछ न मिलने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। उन्होंने बताया कि जिस तरह से सभी अयोध्या में घुसे थ्ो उससे यही शुरूआती समय में यही लगा था अयोध्या की रेकी करने आय्ो थ्ो। वहीं स्थानीय पुलिस ने भी बताया कि पूछताछ में कुछ नहीं निकला है इसलिए सभी को छोड़ दिया गया। गौरतलब है कि शुक्रवार की देर रात को अयोध्या के हाई सिक्योरिटी यलो जोन से आठ संदिग्ध युवकों को थाना राम जन्मभूमि के गोकुल भवन बैरियर के पास से पकड़ा गया था। है। ये लोग राजस्थान के नंबर वाली गाड़ी से थे। युवकों से पुलिस, खुफिया एजेंसियां व एटीएस की टीमों ने पूछताछ की। शुक्रवार देर रात अल्पसंख्यक समुदाय के आठ युवकों को हिरासत में लिया गया था। सभी युवक राम जन्मभूमि परिसर की ओर जाने वाले मार्ग पर गोकुल भवन बैरियर के पास संदेहास्पद स्थिति में घूमते हुए पाए गए थ्ो।

युवकों ने बताया दूध डेयरी का करते हैं काम
पूछताछ में युवकों ने एटीएस और पुलिस को बताया कि दूध का कारोबार करते हैं उनकी डेयरी भी है। उन्होंने बताया कि राजस्थान नागौर के रहने वाले हैं।

सात नवंबर को निकले थ्ो टूर पर

पूछताछ मेें युवकों ने बताया कि सात नवंबर से टूर पर निकले हैं। उन्हें बहराइच के बाद अंबेडकरनगर स्थित दरगाह किछौछा शरीफ जाना था।

आधार कार्ड से भी हुई पहचान
आधार कार्ड से युवकों की पहचान मो. शकील, मो. साकिर, मो. सईद, मो. राजा, मो. इरफान, मो. मदनी, मो. हुसैन व अब्दुल वाहिद निवासी जिला नागौर, राजस्थान के रूप में हुई। सभी के आधार कार्ड संदिग्ध लग रहे थ्ो। लेकिन जांच में सही पाये गये।

2००5 में इसी रास्ते से घुसे थे चार आतंकी
आपको बता दे कि बीते 4 जुलाई 2००5 को भी इसी रास्ते से पांच आतंकी राम जन्मभूमि परिसर में घुसे थे। और परिसर के बगल में लगी लोहे की बैरिकेटिग को धमाके से उड़ाकर वे लोग अंदर घुस गए थे। हालांकि, सुरक्षाकर्मियों ने इन चारों आतंकवादियों को मार गिराया था। इसमें एक युवक की भी मौत हो गयी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 5 =