अवनी तुम पर देश को गर्व है, पहली महिला फाइटर प्लेन पायलट बनी अवनी

न्‍यूज डेस्‍क लखनऊ। अवनी चतुर्वेदी ने गुरुवार को अकेले फाइटर प्लेन उड़ाकर पूरे देश को हैरान कर दिया। अवनी पहली महिला फाइटर प्लेन की पायलट बनी है। अवनी को प्लेन उड़ाते जब देखा गया तो देश का सीना चौड़ा हो गया। वैसे तो अवनी के साथ दो और महिला पायलट को भी लड़ाकू विमान पायलट घोषित किया गया था। इनमें मोहना सिंह और भावना कंड भी शमिल थी। इन तीनों को जून 2०16 में भारतीय वायु सेना के स्क्वाड्रन में शामिल किया गया। उन्हें औपचारिक रूप से तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर द्बारा कमीशन में शामिल किया गया था।

लड़ाकू विमान की पहली महिला पायलट के रूप में पहचानी जायेंगी अवनी
दरअसल अभी तक वायुसेना में महिलाएं केवल ट्रांसपोर्ट विमान और हेलीकॉप्टर ही उड़ा सकती थीं, लेकिन अवनी ने मिग-21 बाइसन जब अकेले उड़ाया तो वायुसेना के इतिहास में एक नई पहचान जोड़ दी। वह मध्य प्रदेश के रीवा जिले की रहने वाली है।

हैदराबाद के वायुसेना अकादमी से की है पढ़ाई
अवनी ने हैदराबाद की वायु सेना अकादमी से पढ़ाई कर देश में एक नया इतिहास रचा है। अवनी ने अपनी स्कूली शिक्षा दियोलैंड से की जो कि मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में स्थित एक छोटा सा शहर है। साल 2०14 में राजस्थान के वनस्थली यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में बीटेक किया है। जिसके बाद उन्होंने भारतीय वायु सेना की परीक्षा पास की थी।

इंडियन एयरफोर्स में 94 हैं महिला पायलट
जानकारी के मुताबिक इंडियन एयरफोर्स में फिलहाल 94 महिला पायलट मौजूदा समय में हैं, लेकिन ये पायलट फाइटर जेट्स नहीं उड़ाती हैं। अवनी ने जब एयरफोर्स ज्वाइन की थी उस वक्त महिलाएं केवल हेलीकॉप्टर और दूसरे विमान ही उड़ा रही थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.