यूपी में स्कूलों को खोले जाने के लिए अपर मुख्य सचिव माध्यमिक ने दिए निर्देश, आपके लिए जानना है जरूरी

न्यूज डेस्क। अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा, आराधना शुक्ला ने गुरूवार को यहां योजना भवन में वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से समस्त संयुक्त शिक्षा निदेशकों तथा जिला विद्यालय निरीक्षकों के साथ समीक्षा बैठक की। सर्वप्रथम उन्होंने कोविड काल में विद्यालयों में औपचारिक अध्यापन कार्य बन्द रहने के पश्चात्, 19 अक्टूबर 2020 से पुनः भौतिक रूप से अध्यापन कार्य प्रारम्भ करने के दृष्टिगत, विद्यालयों द्वारा की जा रही तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश दिया कि टीम गठित कराके तथा स्वयं प्रत्येक विद्यालय का निरीक्षण कर लें, जिससे विद्यालय खुलने के पश्चात् छात्र-छात्राओं को किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पडे़।
श्रीमती शुक्ला ने निर्देश दिया कि विद्यालय खोले जाने से पूर्व उन्हें पूरी तरह से सेनेटाइज कराया जाय तथा विद्यालयों में सेनेटाइजर, हैण्डवाश, थर्मल स्कैनिंग एवं प्राथमिक उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। बच्चों का भविष्य तथा स्वास्थ्य दोनों महत्वपूर्ण हैं, इसका विशेष ध्यान रखा जाय। कक्षा-9 से 12 के विद्यालयों में भौतिक रूप से पठन-पाठन पुनः प्रारम्भ किये जाने के संबंध में, विभाग द्वारा जारी किये गये दिनांक 10 अक्टूबर, 2020 के शासनादेश का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाय।
श्रीमती शुक्ला ने 17 अक्टूबर,2020 से प्रारम्भ हो रहे नारी सुरक्षा तथा नारी सम्मान से संबंधित ‘मिशन शक्ति’ कार्यक्रम के संबंध में समस्त अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रत्येक विद्यालय में विशाखा समिति का गठन किया जाय तथा बालिकाओं को आत्मरक्षा के संबंध में प्रशिक्षण दिया जाय। बालकों को भी संस्कार दिये जांय तथा अनैतिक कार्य करने के भय के विषय में भी बताया जाय। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि बालिकाओं तथा महिलाओं को उन्हें प्राप्त विधिक प्राविधानों के संबंध से भी भली-भांति अवगत कराया जाय।
अपर मुख्य सचिव द्वारा निर्देश दिया कि विद्यालयों में स्वच्छता अभियान चलाया जाय, जिसमें परिसर की सफाई, शौचालयों की सफाई, कूडा को हटाया जाना शामिल है। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि अभियान चलाकर छात्र-छात्राओं को स्वच्छ पेयजल सुलभ करायें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.