यूपी में लाॅकडाउन तोड़ने वाले 42 हजार लोगों पर कार्रवाई, वसूला गया पांच करोड़ रूपए जुर्माना

न्यूज डेस्क। कोरोना वायरस के संकट से निपटने के उत्तर प्रदेश में योगी सरकार हर स्थिति से निपटने का प्रयास कर रही है। लोग घरों में रहे इसके लिए गरीब अमीर सभी का सरकार ध्यान दे रहे रही है बावजूद उसके लोग लाॅकडाउन तोड़ने का प्रयास करत रहे। पुलिस ने इस संबंध में लखनऊ समेत प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में 42 हजार लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए पांच करोड़ का जुर्माना वसूल किया है।

file photo

शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि प्रदेश भर में लॉकडाउन के दौरान 13208 एफआईआर दर्ज की गई है। 188 के तहत 42 हजार 359 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। अब तक पांच करोड़ 87 लाख रुपये चालान के रूप में जमा कराया जा चुका है। बताया कि कोविड-19 से प्रभावित संदिग्धों की जांच के लिए भी निर्देश दिया गया है। नोएडा, सहारनपुर और ग्रेटर नोएडा में जांच केंद्र बनाया जाएगा। आयुष विभाग द्वारा नया ऐप बनाया जाएगा, जिससे लोगों को राहत और बचाव की जानकारी मिलेगी। जो लोग 14 दिन के क्वॉरेंटाइन को पूरा कर चुके हैं उन्हें होम कोरनटाइन में भेजा जा रहा है। कहा कि मीडिया से अपील करते हैं कि वह सभी लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करें।
50 लाख लीटर उत्पाद, 33 लाख लीटर वितरित
बता दें प्रदेश में किसी भी व्यक्ति को दूध की कमी न रहे इसके लिए सरकार ने बड़े स्तर पर तैयारियां की है। ऐसे में अभी तक 50 लाख लीटर दूध का उत्पादन हुआ है जबकि 33 लाख लीटर दूध का लोगों मेें वितरण किया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 − four =