इंजीनियरिंग काॅलेजों में छात्रों की 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य नहीं

लखनऊ। डाॅ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय एकेटीयू की ओर से ढाई लाख छात्रों को लाॅकडाउन के बीच बड़ी राहत मिली है। प्रदेश के निजी एवं सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों में पढ़ने वाले बीटेक, एमबीए, बीफार्मा समेत एमटेक कोर्स के छात्रों को सेमेस्टर परीक्षा में शामिल होने के लिए कक्षा में 75 प्रतिशत उपस्थिति की बाध्यता लागू नहीं होगी। लॉकडाउन की वजह से कक्षाएं स्थगित होने पर विश्वविद्यालय ने यह फैसला लिया है। इससे करीब ढाई लाख छात्रों को बड़ी राहत मिलेगी। पिछली सेमेस्टर परीक्षाओं में 75 प्रतिशत से कम उपस्थिति होने पर करीब एक हजार छात्रों को परीक्षा देने से रोक दिया गया था। साथ ही ऑनलाइन क्लास में शामिल छात्रों की उपस्थिति भी मान्य होगी। इस बारे में जानकारी देते हुए एकेटीयू के कुलपति प्रो. विनय पाठक ने जानकारी दी है। एकेटीयू के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक ने बताया कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद छात्रों की सेमेस्टर परीक्षा का आयोजन कराया जाएगा। ऑनलाइन शिक्षण कार्य के जरिए छात्रों का पाठ्यक्रम लगभग पूरा कराया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven − six =