261 जिंदगियों को महिला पायलट अनुपमा कोहली ने दिया नया जीवन

न्यूज डेस्क। विस्तारा एयरलाइंस और एयर इंडिया दोनो विमान में सवार थे 261 यात्री और आसमान में एक दूसरे के आमने सामने आ गये। स्थिति को देख बिना किसी देरी के महिला पायलट अनुपमा कोहली की सूझबूझ से दोनो विमान आपस में टकराने से बच गये। ये विमान जिस गति में आमने सामने थे अगर कहीं ये टकरा जाते तो जमीन से लेकर आसमान तक नजारा कुछ और ही होता। हालांकि इसमें दोनो एयरलाइंस को ट्रैफिक कंट्रोलरों को सस्पेंड कर दिया गया है।
सात फरवरी की है घटना, ये विमान हुए आमने-सामने
विस्तारा के प्लेन यूके 997
विस्तारा के प्लेन यूके 997 को भी घटना के समय महिला पायलट ही चला रही थी। ये प्लेन दिल्ली से पुण्ो जा रहा था। इसमें 152 यात्री सवार थ्ो।
एयर इंडिया की एआई 631 विमान
वहीं दूसरी ओर एयर इंडिया की एआई 631 विमान में 1०9 यात्री सवार थ्ो। इस विमान को मुंबई से भोपाल जाना था।
विस्तारा की लापरवाही आ रही सामने
बताया जा रहा है कि विमान उड़ने के दौरान विस्तारा की लापरवाही निकलकर सामने आ रही है। मीडिया खबरों के मुताबिक विस्तारा को 29,००० फीट पर उड़ने का निर्देश दिया गया था जबकि वह 27,1०० फीट पर उड़ रहा था। इस मामले की जांच शुरू हो चुकी है। ऐसे में अभी कई ओर लोगों पर गाज गिरना तय है।

2० साल का अनुभव रखती हैं प्राणदाता बनी अनुपमा कोहली

अपनी सूझबूझ से दो विमानों को आपस में टकराने से बचाने वाली अनुपमा कोहली पिछले 2० साल पायलट पद पर कार्यरत हैं। जब विमान को चला रही थी उस समय विस्तारा एयरलाइन के प्लेन को करीब आते देखा तो महज 1०० फिट की दूरी बची थी। जिसके बाद उन्हें आभास हो गया कि विस्तारा उनकी उड़ान के लेवल पर उड़ रहा है। जिसके बाद उन्होंने अपने प्लेन की ऊंचाई बढ़ा दी और विस्तारा को निकलने का रास्ता दे दिया। एयर इंडिया ने कोहली की सूझबूझ की सराहना की है।

अनुपमा कोहली की सूझबूझ को इंडिया न्यूज टाइम्स डॉट इन करता है प्रणाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + 6 =