1306 विदेशी नागरिकों के साथ नौ हजार तब्लीगी जमात के लोगों को रखा गया क्वारंटाइन में

गुरुवार को स्‍वास्‍थ्‍य और गृह मंत्रालय की संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस में स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल फोटो साभार एएनआई ट्वीटर

न्यूज डेस्क। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए केन्द्र सरकार के साथ मिलकर राज्यों की सरकारें भी अहम कदम उठा रही हैं। वहीं तब्लीगी जमात के लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया है। ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सके। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक देश में अब तक कोरोना संक्रमित 50 मरीजों की मौते हो चुकी हैं लेकिन 151 लोग ऐसे भी हैं जो पूर्ण रूप से ठीक होकर अपने घरों को पहुंच चुके हैं। इसके साथ ही गुरूवार को गृहमंत्रालय की ओर से जारी सूचना में बताया गया कि 9000 तब्लीगी जमात के लोगों को क्‍वारंटाइन में रखा गया, इनमें 1306 विदेशी भी शामिल हैं। बतों दें कि दक्षिणी दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल होने आए लोगों में बड़े पैमाने पर कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनके कारण अकेले दिल्ली में 24 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं, जबकि 441 लोगों को लक्षण दिखने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मरकज में हिस्सा लेकर लौटे दस लोगों की मौत हो चुकी है।
1965 हुई पीड़ितों की संख्या
देश में कोरोना वायरस से निपटने और लॉकडाउन को लेकर गुरुवार को स्‍वास्‍थ्‍य और गृह मंत्रालय की संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस हुई। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि कल से अब तक 328 नए केस सामने आए हैं और 12 नई मौतें रिपोर्ट हुई हैं। देश में कोरोना से संक्रमित मामलों की कुल संख्या 1965 हो गई है। देश अब तक कोरोना के संक्रमण की वजह कुल 50 मौते हुई हैं। वहीं अब तक 151 लोग ठीक हो चुके हैं।
9000 तब्लीगी जमात कार्यकर्ता क्वारंटाइन में
गृह मंत्रालय की संयुक्‍त सचिव पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने कहा कि गृह मंत्रालय ने 9000 तब्लीगी जमात कार्यकर्ताओं और उनके संपर्कों की पहचान की है, और उन्हें क्‍वारंटाइन में रखा है। इन 9000 लोगों में से 1306 विदेशी हैं और बाकी भारतीय हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली में लगभग 2,000 तबलीगी जमात के सदस्यों में से 1,804 को क्वॉरंटाइन किया गया है, 334 को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।
लोगों से घर में रहने की अपील
कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए केन्द्र सरकार के साथ-साथ राज्यों की सरकारें भी लगातार लोगों से अपील कर रही हैं कि लाॅकडाउन पीरियड तक लोग अपने-अपने घरों में रहें, इसके लिए लोगों को जरूक भी यिका जा रहा है, पुलिस प्रशासन के अधिकारी भी लगातार लोगों लगातार जागरूक करने के लिए जुटे हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + nineteen =